loading...

मुंबई : केंद्रीय बिजली मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि एनर्जी एफिशंसी मिशन के तहत 2018 तक एलईडी बल्ब अपनाने से सालाना छह अरब डॉलर (401 अरब रुपये) तक की बचत होगी।डमेस्टिक एनेबल लाइटिंग प्रोग्राम (डीईएलपी) के तहत अब तक लगभग 4.59 करोड़ एलईडी बल्ब बांटे गए हैं। led-pic

loading...
 गोयल ने अमेरिका-भारत इनिशटिव कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, ‘जब सभी 71 करोड़ परंपरागत बल्बों की जगह एलईडी बल्ब लगा दिए जाएंगे तो 100 अरब यूनिट बिजली की बचत होगी।’ केंद्र ने सार्वजनिक क्षेत्र की एनर्जी एफिशंसी सर्विसेज के जरिए छह करोड़ से अधिक एलईडी बल्ब वितरित करने का लक्ष्य रखा है।

मंत्री ने इस अवसर एलईडी बल्बों की कीमतों में लगातार गिरावट का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, ‘हम जून में 73 रुपये प्रति बल्ब के हिसाब से एलईडी बल्ब खरीद पाए जबकि फरवरी 2014 में यह कीमत 310 रुपये थी। यानी कीमत में इस दोरान 76 प्रतिशत कमी आई।’

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें