loading...

हाल ही में अमिताभ बच्चन कि एक फिल्म रिलीज़ हुई थी ‘पिंक’ l ये फिल्म कैरेक्टर सर्टिफिकेट बाटने वाले समाज के मुंह पर करारा तमाचा है l इसमें उस समाज पर सवाल उठाया गया है जो किसी भी लड़की या महिला से ये सवाल करता है कि आपने छोटे कपड़े क्यों पहने है ? आप ड्रिंक क्यों करती हैं या आप लेट नाइट घर क्यों आती हैं, या फिर आप लड़कों से हंस कर बात क्यों करती हैं ?

इस फिल्म में सिर्फ एक छोटी सी बात जिसे हर कोई जानता है पर समझता नहीं चाहता, उसे ही बहुत ही प्रभावशाली तरीके से समझाने की कोशिश की गई है और वो- ‘No’ l फिल्म के एक डायलॉग से इसे अगर समझना चाहें तो ना सिर्फ एक शब्दनहीं है, एक पूरा वाक्य है अपने आप में, इसे किसी व्याख्या की जरूरत नहीं है l ‘No’Means No. चाहें वो आपकी गर्लफ्रेंड हो, आपकी पत्नी हो या फिर कोई सेक्स वर्कर हो l 

Source
loading...

Source

अब आपको बताते हैं कि ‘पिंक’ मूवी की चर्चा क्यों कर रहे हैं, दरअसल एक हफ्ते में यूरोप में महिलाओं के साथ घटी एक जैसी दो घटनाएं वाकई शर्मसार कर देने वाली हैं l 17 अक्टूबर को स्पेन से एक सनसनीखेज घटना सामने आई जिसमें एक लाइव टीवी शो में प्रेज़ेंटर ने शो की गेस्ट का टॉप नीचे खींच दिया था l इसके बाद फ्रांस में जो हुआ है उससे ये सवाल उठता है कि क्या लाइव टीवी पर महिलाओं को शर्मासार करना यूरोप में लाइव टीवी का नया कल्चर है l

उसने तो बस इस बात के लिए ‘नो’ ही कहा था पर उसके साथ वो हुआ जो उसने सोचा भी नहीं जानने के लिए क्लिक करें अगले पेज पर..

Click on Next Button For Next Slide

1 of 4
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें