loading...
दो दिन पहले पुलगाम के एक पुलिस स्टेशन से रखे गए 70 बंदूकें लूटी गईं हैं। दो दिन पहले मुसलमानों ने पुलगाम के दमहल हांजी पोरा पुलिस स्टेशन को तबाह कर दिया।
loading...
दो दिन पहले पुलगाम के एक पुलिस स्टेशन से रखे गए 70 बंदूकें लूटी गईं हैं। दो दिन पहले मुसलमानों ने पुलगाम के दमहल हांजी पोरा पुलिस स्टेशन को तबाह कर दिया।

दिल्ली : हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से घाटी में उपजे तनाव से स्थिति काफी खराब हो गई है। खुफिया एजेंसियों का कहना है कि सुरक्षाबलों को ना चाहते हुए भी मुसलमानों पर गोलियां चलानी पड़ रही हैं।

खबरो के मुताबिक, दो दिन पहले पुलगाम के एक पुलिस स्टेशन से रखे गए 70 बंदूकें लूटी गईं हैं। दो दिन पहले मुसलमानों ने पुलगाम के दमहल हांजी पोरा पुलिस स्टेशन को तबाह कर दिया और वहां रखी लगभग 70 बंदूकें लूट ली। उनमें एके 47, इंसास राइफल, एक लाइट मशीन गन, कई मैगजीन और गोलियां थीं। इनका इस्तेमाल कश्मीर में सेना के खिलाफ किया जा सकता है। रिपोर्ट्स में कहा गया है कि आतंकी लूटे गए हथियारों से अपनी छोटी फौज बनाने की फिराक में हैं। पुलिस स्टेशन से जो हथियार लूटे गए हैं।

बुरहान वानी के बाद महमूद गजनवी हिजबुल का नया चीफ

बुरहान के एनकाउंटर के बाद हिजबुल मुजाहिदीन ने नया कमांडर चुन लिया है। हिजबुल चीफ सईद सलाहुद्दीन ने मंगलवार को हिजबुल कमांडर महमूद गजनवी को कश्मीर का नया चीफ अप्वाइंट किया। बुरहान, सलाहुद्दीन का खास साथी था। घाटी में मंगलवार को बुरहान के साथ उसके पोस्टर सड़कों पर लगे नजर आए।

आत्मरक्षा में सुरक्षाबलों को चलानी पड़ती है गोलियां

इंटेलिजेंस एजेंसी के एक सूत्र के मुताबिक हाल ही में प्रदर्शनकारियों ने CRPF का एक थाना जला दिया और सुरक्षाबलों की एक गाड़ी को झेलम नदी में डाल दिया। जिसके बाद सुरक्षाबलों को आत्मरक्षा में गोलियां चलानी पड़ी। इसी बीच पूरी कोशिश की जाती है कि छिपे हुए आतंकी को वहां से भागने में पूरी मदद की जाए ऐसे में सुरक्षाबलों के पास भीड़ पर कार्रवाई करने के सिवाय कोई और रास्ता नहीं होता।

Video Sponsor : Nationalist Viral Poems

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें