loading...
plane-taking-off-800x400
loading...
पिछले 14 सालों में 61 हजार से ज्यादा करो़ड़पतियों ने भारत छोड़कर किसी दूसरे देश की नागरिकता ली है.

उदारीकरण के बाद अर्थव्यवस्था में हुए विस्तार ने भारत में अमीरों की संख्या में असाधारण बढ़ोतरी की. लेकिन अब पैसे वाले भारतीयों की एक बड़ी संख्या देश छोड़कर भी जा रही है. बीते 14 साल के दौरान 61 हजार से भी ज्यादा करोड़पतियों ने भारत छोड़कर किसी दूसरे देश की नागरिकता ले ली. ये लोग हाई नेट वर्थ इंडिविजुअल्स कहे जाने वाले एक वर्ग में आते हैं. इस वर्ग में उनको रखा जाता है जिनके पास एक मिलियन डॉलर यानी करीब छह करोड़ रु से ज्यादा की निवेश योग्य रकम हो. ऐसे लोगों के देश छोड़कर विदेश जा बसने के मामले में सिर्फ चीन ही भारत से आगे है. उसके लिए यह आंकड़ा करीब 91 हजार है. 

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...