loading...

488509-rlv

loading...

तिरूवनंतपुरम। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) अपने पंखों को एक नया फैलाव देते हुए अपने अब तक के सफर में पहली बार अंतरिक्ष में एक ऐसी उड़ान भरने जा रहा है, जो इतिहास के पन्नों में दर्ज होगी। भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी स्पेस शटल के स्वदेशी स्वरूप के पहले प्रक्षेपण के लिए तैयार है। यह पूरी तरह से मेड इन इंडिया प्रयास है। रविवार को एक स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल (एसयूवी) वाहन के वजन और आकार वाले एक रीयूजेबल लॉन्च व्हीकल को श्रीहरिकोटा में अंतिम रूप दिया जा रहा है। इसके बाद प्रक्षेपण से पहले की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी। विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र तिरूवनंतपुरम के निदेशक के. सिवान ने कहा कि ये हनुमान के बड़े कदम की दिशा में अभी नन्हें कदम हैं।

आगे  पढ़े – श्रीहरिकोटा में दिया जा रहा है अंतिम रूप

1 of 4
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें