loading...
सियाचिन: माइनस 55 डिग्री में 6 दिन 35 फीट बर्फ के नीचे कैसे जिंदा रहा जवान?
सियाचिन ग्लेशियर में एवलांच के बाद बचाए गए लांस नायक हनुमनथप्पा को मंगलवार को दिल्ली लाया गया।
loading...
सियाचिन ग्लेशियर में एवलांच के बाद बचाए गए लांस नायक हनुमनथप्पा को मंगलवार को दिल्ली लाया गया।

नई दिल्ली. सियाचिन में पिछले दिनों आए एवलांच के बाद यह मान लिया गया कि हादसे में मद्रास रेजिमेंट के सभी 10 जवान शहीद हो चुके हैं। लेकिन अपने साथियों को ढूंढने के लिए 150 जवान 19600 फीट की ऊंचाई पर मौजूदा सोनम पोस्ट में माइनस 55 डिग्री टेम्परेचर में डटे रहे। दो स्निफर डॉग्स और आइस कटिंग मशीनों को लेकर वे इंच दर इंच जवानों को तलाशते रहे। 6 दिन बाद हनुमनथप्पा को जिंदा बचाया गया।

किन दो वजहों से जिंदा रहे लांस नायक, क्या है जवान को जिंदा बचाने की पूरी कहानी …

1 of 4
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें