loading...

iraq order

loading...

revoltpress – इराक की राजधानी बगदाद में हुए अब तक के सबसे बड़े आतंकी हमले देश में शोक और आक्रोश की लहर है। इराक में इस आतंकी हमले के बाद तीन दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है। प्रधानमंत्री हैदर अल अबादी ने इन आतंकी हमलों के दोषियों को सजा देने की कसम के साथ जेल में बंद सभी आतंकियों तुरंत मौत की सजा देना का आदेश दिया है।

बगदाद में हुए आत्मघाती हमले में मरने वालों की संख्या बढ़कर 213 हो गई है। यह अब तक इराक में किसी आतंकी हमले के दौरान मरने वालो नागरिको की सबसे घटना है।

इराक के प्रधानमंत्री हैदर अल अबादी को इस घटना के बाद ऍम नागरिको के विरोध का सामना भी करना पड़ रहा है। प्रधानमंत्री के आतंकी घटना स्थल कर्रादा के दौर के दौरान स्थानीय नागरिको ने उनके काफिले पर पत्थर, खाली बोतलें और जूते-चप्पल भी फेंके।

ज्ञात रहें कि, एक सप्ताह पूर्व बगदाद से 50 किमी दूर फालुजा को इराकी सेना ने आतंकी संगठन IS से मुक्त कराया। यह IS का एक मजबूत गढ़ माना जाता था। यह भी माना जा रहा है कि, इस हार से बौखलाए IS आतंकियों ने राजधानी बगदाद को निशाना बनाया।

इराक के प्रधानमंत्री हैदर अल अबादी ने इन आतंकी हमलों के दोषियों को सजा देने की कसम खाते हुए जेल में बंद सभी आतंकियों को तुरंत मौत की सजा देने का आदेश भी दे दिया है। देश में इस आतंकी घटना के बाद तीन दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित करते हुए राजधानी बगदाद की सुरक्षा में व्यापक बदलाव देने के आदेश दिए हैं।

बगदाद के सुरक्षा और चिकित्सा अधिकारियों ने सोमवार को जानकारी देते हुए बताया कि, 200 से अधिक लोग घायल भी हुए हैं। मध्य बगदाद के कर्रादा बाजार में शनिवार देर रात विस्फोटकों से लदी कार से धमाका किया था। उस समय बड़ी संख्या में लोग ईद की खरीदारी कर रहे थे। जबकि, दूसरा धमाका उसी रात उत्तरी बगदाद के अल-शाब में हुआ था। इसमें कई मारे गए और बड़ी संख्या में लोग घायल हुए। इस हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक आतंकी संगठन ISIS ने ली थी।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...