loading...

नई दिल्ली। अब इसे हमारी खुशकिस्मती कहें या फिर तेल उत्पादक देशों की अमेरिका के साथ चल रही अदावत, लेकिन हकीकत ये है कि आज की तारीख में कच्चा तेल पानी के भाव से बिक रहा है। चौंकिए नहीं ये हकीकत है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल के दामों की हालत ये है कि पिछले एक साल में 70 फीसदी की गिरावट आ गई है, लेकिन हमारे देश में इसका फायदा आम जनता को नहीं मिल रहा है।Screeइसकी जगह सरकार जमकर मुनाफा कमा रही है और तेल कंपनियां भी मालामाल हो गई हैं। देश की जनता आज भी 60 रुपये से अधिक की कीमतों पर तेल खरीदने को मजबूर है। आप सोच रहे होंगे कि आखिर पानी से सस्ता तेल कैसे हो गया? तो आइए आपको ये गणित समझा भी देते हैं।

अब डीजल व पेंट्रोल पानी की बोतल से भी सस्ता हुआ ! video देखे…
loading...

दरअसल, इस समय WTI क्रूड 31 डॉलर और ब्रेंट क्रूड 31.40 डॉलर प्रति बैरल के बिक रहा है। तेलों में गिरावट का 2004 के बाद का ये सबसे निचला स्तर है। भारतीय बास्केट में इसकी कीमत को आंका जाए एक बैरल की यानी तकरीबन 159 लीटर तेल की कीमत 2001.28 रुपये होती है यानि एक लीटर क्रूड ऑयल की कीमत तकरीबन 12.58 रुपये बैठती है जबकि इस देश में मिनरल वाटर 15 से 20 रुपये में बिकता है।

Next पर क्लिक कर पूरी जानकारी जरूर विजिट करे…. 

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें