loading...

नयी दिल्ली : रोजगार के लिहाज से नया वर्ष (2016) ‘अच्छे दिन’ लाने वाला है। जहां वेतन में 10 से 30% के दायरे में वृद्धि की उम्मीद है वहीं प्राइवेट सेक्टर में खासकर ई-वाणिज्य और मन्यूफैक्चरिंग सेक्टर में तेज गति से कर्मचारियों को नियुक्त किये जाने की संभावना है। sarkari-naukri

loading...

सातवें वेतन आयोग से भी तेजी आने की संभावना है। इससे सरकारी कर्मचारियों के वेतन में अच्छी-खासी वृद्धि होगी और उसका असर प्राइवेट सेक्टर में भी देखा जा सकता है। वर्ष 2015 समाप्त होने के करीब है, ह्यूमन रिसोर्स एक्सपर्ट का मानना है कि रोजगार बाजार में अच्छे दिन स्पष्ट रूप से दिखे और नियुक्ति गतिविधियों में इस साल (2015) करीब 10% की वृद्धि हुई तथा आने वाले साल में इसमें और तेजी की उम्मीद है।

विभिन्न एजेंसियों के आंकड़ों के अनुसार कंपनियों ने इस साल कर्मचारियों के वेतन में 10 से 12% की वृद्धि की जबकि कुछ बेहतर टाइलेंट के मामले में वेतन में औसतन 25% की वृद्धि हुई। आने वाले वर्ष के लिये ह्यूमन रिसोर्स एक्सपर्ट ने वेतन में 12 से 15% जबकि टॉप टाइलेंट को 30% तक वृद्धि मिलने की उम्मीद कर रहे हैं।

कुछ सर्वे में पहले ही कहा जा चुका है कि ग्लोबल लेवल पर नई नियुक्तियों के मामले में भारतीय कंपनियां नये वर्ष को लेकर ज्यादा आशावादी हैं। ज्यादातर नियुक्ति गतिविधियां ई-वाणिज्य तथा इंटरनेट संबंधित क्षेत्रों में आने की संभावना है। साथ ही ‘मेक इन इंडिया’ अभियान के तहत मन्यूफैक्चरिंग सेक्टर में भी गतिविधियां देखी जा सकती हैं।

एक्सपर्ट के अनुसार 2015 में रोजगार बाजार मिला-जुला रहा लेकिन वर्ष 2016 निश्चित रूप से यह पिछले साल से बेहतर रहेगा। कई कंपनियों ने बेहतर निवेश माहौल के उम्मीद में नियुक्ति गतिविधियां बढ़ायी हैं। साथ सरकार का मन्यूफैक्चरिंग उद्योग को गति देने के कदम का सकारात्मक परिणाम दिखेगा।

माई हायरिंग क्लब डॉट कॉम के सीईओ राजेश कुमार ने कहा, रोजगार बाजार में निश्चित रूप से ‘अच्छे दिन’ की शुरूआत हो रही है। मन्यूफैक्चरिंग और इंजीनियरिंग सेक्टर पिछले कुछ साल के मुकाबले ज्यादा रोजगार सृजित कर रहे हैं। आने वाले वर्ष के लिये परिदृश्य बेहद सकारात्मक है।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें