loading...

rajnath-singh-final_0_0

loading...
नई दिल्ली। जेएनयू में संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु की बरसी मनाने को लेकर पैदा हुए विवाद पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कड़ा रुख अपनाया है। राजनाथ सिंह ने कहा है कि देश में रहकर राष्ट्रविरोधी नारे लगाने वालों को किसी भी सूरत में माफ नहीं किया जाएगा। राजनाथ सिंह के मुताबिक इस मामले में उन्होंने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को कहा कि वो दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि देशविरोधी काम करने वालों से सरकार सख्ती से निपटेगी।

राजनाथ ने कहा कि जो देश में रहकर भारत विऱोधी नारे लगाता है,  भारत की एकता अखंडता पर सवालिया निशान लगाता है उसे किसी भी सूरत में माफ नहीं किया जाएगा।  पुलिस कमिश्नर दिल्ली को निर्देश दिए गए हैं कि कठोर कारर्वाई होनी चाहिए और होगी। ये दुर्भाग्यपूर्ण है, ऐसे नारे लगाने वालों को माफ नहीं करूंगा। वहीं स्मृति ईरानी ने कहा कि भारत मां का अपमान राष्ट्र कभी सह नहीं सकता।

बता दें कि इस मामले में दिल्ली से बीजेपी सांसद महेश गिरि ने देशद्रोह का केस दर्ज कराया है। महेश गिरि ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि वो जेएनयू के कुलपति को कार्यक्रम के आयोजकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दें। वहीं, एबीवीपी ने इंडिया गेट पर विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया है।

गौरतलब है  कि बुद्धिजीवियों का गढ़ कही जाने वाली जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में गुरुवार को कुछ छात्रों ने संसद पर हमले के दोषी आतंकी अफजल गुरु की बरसी मनाई और इस मौके पर देश विरोधी नारे भी लगाए गए। दरअसल, छात्रों के एक समूह ने संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु और जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के को-फाउंडर मकबूल भट की याद में प्रोग्राम आयोजित किया था। विरोध कर रहे छात्रों के गो बैक इंडिया, कश्मीर की आजादी तक जंग रहेगी, भारत की बर्बादी तक जंग रहेगी जैसे नारों ने पूरे कैंपस में बवाल खड़ा कर दिया।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें