loading...

rj

loading...

भवानी सिंह 

जैसलमेर। राजस्थान के जैसलमेर में एक अपराधी चतुर सिंह को पुलिस के मुठभेड़ में मार गिराने के बाद बवाल खड़ा हो गया। विरोध में जैसलमेर जिला बंद रहा है। जैसलमेर और बाड़मेर में इंटरनेट सेवाएं 48 घंटे के लिए बंद कर दी गई। जयपुर समेत कई जिलों में इस एनकाउटंर की सीबीआई जांच और पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन हुआ। बीजेपी के कई स्थानीय नेता और विधायक भी आंदोलनकारियों के समर्थन में उतर आए। प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि एनकाउटंर फर्जी था, मृतक ने सरकार के खिलाफ कई मुद्दों को लेकर आंदोलन किया इस वजह से निशाना बनाकर उसकी हत्या की।

आंदोलनकारी मनीष ने कहा कि 25 जून की रात चतुरसिंह नाम के शख्स को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया था लेकिन वह स्थानीय लोगों को रोजगार दिलाने के लिए सरकार के खिलाफ कई बार आंदोलन कर चुका था इसलिए पुलिस ने उसकी हत्या की, मुठभेड़ फर्जी है। नेता राजेंद्र सिंह ने कहा कि पुलिस की ये कहानी फर्जी है कि गोली टायर में मारी थी और फिर बोनट से टकराकर उसे लग गई थी। हमारी स्पष्ट मांग है कि सीबीआई से जांच हो और दोषियों पर कार्रवाई की जाए।

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें