loading...

amla

loading...

आयुर्वेद के अनुसाल आंवला एक ऐसा फल है जो बूढ़े व्यक्ति को भी जवान बना सकता है। आंवला में भरपूर मात्रा में विटामिन ‘सी’और एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है। इसके अलावा आंवले में पोटेशियम ,कार्बोहाइड्रेट ,फाइबर ,प्रोटीन्स ,विटामिन्स ‘ए’, बी काम्प्लेक्स ,मैग्नीशियम, आयरन होता है जो शरीर की कई प्रकार के रोगों से रक्षा करते हैं। आंवले की एक सबसे खास बात ये होती है कि आंवले को किसी भी तरह उबालकर, सुखाकर या पीसकर इस्तेमाल करने पर भी इसके पोषक तत्व नष्ट नहीं होते हैं। आइये जानते हैं कि आंवला किन किन रोगों में फायदेमंद है।

आंखों के लिए
आंवला का रस आंखों के लिए बहुत फायदेमंद हैं। आंवला खाने से आंखों की रोशनी बढाती है। मोतियाबिंद, कलर ब्लाइंडनेस, रतौंधी हो या कम दिखाई पड़ता हो तो आंवले का जूस पीना चाहिए। आखों में जलन या दर्द होने पर आंवला के सेवन से ठंडक पहुंचती है।

पाचन दुरुस्त रखता है
आंवला मेटाबॉलिज्म बढाता है। आवला भोजन को पचाने में बहुत मददगार साबित होता है। इससे कब्ज की शिकायत दूर होती हैं पेट हल्का रहता हैं। रक्त की मात्रा में बढ़ोत्तरी होती हैं। खट्टी डकार आना, गैस का बनना, भोजन का न पचना इत्यादि में आंवला के ५ ग्राम पाउडर को पानी भिगोकर सुबह शाम लेना चाहिए।

डायबिटीज के मरीजों के लिए
आंवला में क्रोमियम होता है, जो डायबिटीज के मरीजों के लिए उपयोगी होता है। आंवला इंसुलिन हार्मोंस और खून में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करता हैं। क्रोमियम बीटा ब्लॉकर के प्रभाव को कम करता हैं, जो की हृदय के लिए अच्छा होता है हृदय को स्वस्थ बनाता है। आवला खराब कोलेस्ट्रोल को ख़त्म कर अच्छे कोलेस्ट्रोल को बनाने में मदद करता हैं। आंवला के रस में शहद मिलाकर लेने से डायबिटिक लोगों को बहुत फायदा होता हैं।

पूर्ण जानकारी के लिए अगले पेज पर पढ़े

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें