loading...

कर्णावती : गुजरात में पटेलों के लिए आरक्षण की मांग पर आंदोलन कर देश भर में चर्चित हुए हार्दिक पटेल ने अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देने की ठानी है। पटेल 15 दिसंबर (सरदार बल्‍लभ भाई पटेल की पुण्‍यतिथि) को मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में किसानों की बड़ी रैली संबोधित करने की योजना बना रहे हैं। वह अभी देशद्रोह के आरोप में जेल में है। लेकिन उन्‍होंने बेल के लिए अर्जी दी है और उन्‍हें उम्‍मीद है कि 15 दिसंबर से पहले जमानत मिल ही जाएगी। रैली अखिल भारतीय पटेल नवनिर्माण सेना (एबीपीएनएस) के बैनर तले हो रही है। एबीपीएनएस का कहना है कि गुजरात, महाराष्‍ट्र, हरियाणा, उत्‍तर प्रदेश, बिहार समेत तमाम राज्‍यों के किसानों को इस महापंचायत के लिए न्‍योता भेजा गया है। सेना की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्‍य सुशील कश्‍यप ने दावा किया कि पिछले सप्‍ताह बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार से मिल कर उनसे भी हार्दिक के साथ मंच साझा करने और महापंचायत को संबोधित करने का आग्रह किया गया है।

hardik-patel

loading...

कश्‍यप ने कहा, ‘नीतीश कुमार ने मोदी के गुजरात मॉडल को चुनौती दी और बिहार चुनाव में अपने विकास मॉडल के आधार पर भाजपा को मात दी। इसलिए हमने नीतीश जी को महांपंचायत में बुलाया है। वहां हार्दिक जी जनता को बताएंगे कि गुजरात का विकास पाटीदारों ने किया, लेकिन बदले में उन्‍हें कुछ नहीं मिला। उल्‍टे मोदी ने गुजरात के विकास मॉडल को राजनीतिक फायदा हासिल करने के लिए लोकसभा चुनाव में मुद्दा बनाया।’ कश्‍यप ने महापंचायत के लिए वाराणसी को ही चुने जाने की वजह बताते हुए कहा, ‘यह प्रधानमंत्री का लोकसभा क्षेत्र है। उन्‍हें निशाना बनाने और किसानों के मुद्दे पर केंद्र सरकार तक संदेश पहुंचाने के लिए यह सबसे अच्‍छी जगह होगी’ बता दें कि पाटीदारों के नेता हार्दिक पटेल ने जब गुजरात में आंदोलन चलाया था और पूरे राज्‍य को एक तरह से ठप कर दिया था तो नीतीश कुमार ने उनके समर्थन में बयान दिया था। बिहार चुनाव में जीत के बाद नीतीश के साथी लालू प्रसाद यादव ने भी कहा था कि अब वह (लालू) देश भर में घूम कर मोदी के खिलाफ अभियान चलाएंगे। उन्‍होंने कहा था कि इसकी शुरुआत वह वाराणसी से करेंगे। पाटीदार भाजपा का हर स्‍तर पर विरोध कर रहे हैं। अभी गुजरात में स्‍थानीय निकाय चुनाव के प्रचार के दौरान उन्‍होंने ऐसे पर्चे बंटवाए हैं जिनमें कहा गया है कि जरूरी हो तो खूंखार अपराधी को चुन लो, पर भाजपा को वोट मत दो।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...