loading...

आँखों में नरमी लिए नाना ने तोड़ी चुप्पी कहा,” किसानों के साथ भिखारी जैसा व्यवहार न करें सरकार

loading...

मुंबई – अभिनेता नाना पाटेकर ने मराठवाड़ा में मौजूद सूखे के संकट और पानी की कमी पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि अगर पहले से कुछ इंतजाम किए गए होते तो आज यह हालात नहीं होते। अगर पहले से हम अलर्ट होते और कुछ इंतजाम किए जाते तो आज ट्रेन से पानी भिजवाने की नौबत नहीं आती। नाना ने साफ शब्दों में कहा कि आज देश का नेतृत्व पूरी तरह से असफल साबित हो गया है।

पाटेकर ने कहा कि, ‘लोग चिंतित हैं। लेकिन उन्होंने यह पहली बार नहीं देखा है। उन्हें यहां (मराठवाड़ा) आना चाहिए। लोगों को सिस्टम पर सवाल जरूर उठाना चाहिए। चुप रहना एक अपराध है। क्या हम अंधे हैं, जो मर रहे लोगों को नहीं देख सकते? अगर वे हमारे लोग नहीं, तो फिर वह हैं कौन?’

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें