loading...

fhjhk

loading...

नई दिल्ली- सरकार ने गूगल और फेसबुक जैसी कंपनियों पर अप्रत्यक्ष रूप से टैक्स लगाने का तरीका खोज निकाला है। इससे विदेश में होने वाले डिजिटल ट्रांजैक्शंस पर टैक्स लगाया जा सकेगा और ऐडवर्टाइजर्स के लिए कॉस्ट बढ़ जाएगी। 

डिजिटल ऐडवर्टाइजिंग प्लैटफॉर्म्स पर सीधा टैक्स लगाने की बजाय सरकार ने ऐडवर्टाइजर्स की ओर से चुकाई जाने वाली फीस पर छह पर्सेंट की ‘इक्वलाइजेशन लेवी’ लगाने की योजना बनाई है। ‘इक्वलाइजेशन’ इसलिए किया जा रहा है क्योंकि सरकार प्रतिस्पर्धा के लिए बराबरी का माहौल तैयार कर रही है और गूगल और फेसबुक जैसी कंपनियों को उस रकम पर टैक्स चुकाना होगा, जो वे लोकल ऐडवर्टाइजर्स से हासिल करती हैं।

1 of 3
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें