loading...

पेरिस हमले में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देते नागरिक।

loading...

विश्व : लड़ाकू विमानों ने IS के कमांड सेंटर, गोला बारूद डिपो और आतंकियों के कैंप पर बम गिराए हैं। फ्रांस एयर फोर्स ने जॉर्डन, संयुक्‍त अरब अमीरात और अमेरिका की मदद से ये हमले किए हैं।

पेरिस हमले का बदला लेने के लिए फ्रांस ने सीरिया में इस्‍लामिक स्‍टेट (IS) ठिकानों पर भीषण बमबारी शुरू कर दी है। फ्रांस के 10 लड़ाकू विमानों ने रविवार को सीरिया के रक्का शहर में 20 से ज्यादा बम गिराए। इस शहर को IS आतंकियों का गढ़ माना जाता है। रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, लड़ाकू विमानों ने IS के कमांड सेंटर, गोला बारूद डिपो और आतंकियों के कैंप पर बम गिराए हैं। फ्रांस एयर फोर्स ने जॉर्डन, संयुक्‍त अरब अमीरात और अमेरिका की मदद से ये हमले किए हैं।

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसुआ ओलांद ने शुक्रवार रात हुए आतंकी हमले के बाद कहा था, ‘हमें पता है कि पेरिस पर हमला करने वाले कौन हैं? हम उनके साथ बेरहमी से निटेंगे।’ दूसरी ओर बमबारी से बौखलाए IS ने फ्रांस को और हमलों के लिए तैयार रहने की चेतावनी दी है। IS ने अपने संदेश में कहा, ‘हमारा संगठन सीरिया और इराक के बाहर भी हमले करने में काबिल है।’

• अभी तक 7 संदिग्‍ध गिरफ्तार
पेरिस हमले में शामिल आतंकियों की तलाश में फ्रांस पुलिस दिन-रात जुटी हुई है। जानकारी के मुताबिक, इस संबंध में अभी तक 7 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। फ्रेंच पुलिस का कहना है कि IS के स्‍लीपर सेल से जुड़े कई और आतंकी देश में मौजूद हो सकते हैं, जिनकी तलाश की जा रही है। पेरिस हमले में 129 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 200 से ज्‍यादा घायल हो गए थे।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें