loading...

asi-yunus-620x400

loading...
यूनुस शेख महाराष्‍ट्र के लातूर जिले के रेनापुर पुलिस स्‍टेशन में तैनात है।

यूनुस शेख ने बताया, ‘मैं उन लोगों से गुहार लगाता रहा कि मुझे जाने दो, लेकिन उन्होंने दया नहीं की। वे मुझे तब तक मारते रहे, जब तक मैं जमीन पर गिर नहीं गया। उन्होंने मुझसे वही झंडा फहरवाया और ‘जय भवानी, जय शिवाजी’ के नारे भी लगवाए।’ 
महाराष्ट्र के लातूर में एसिस्टेंट सब इंस्पेक्टर यूनुस शेख को दक्षिणपंथियों की पहले तो पिटाई की और फिर जबरन उनके हाथ में भगवा झंडा दिया और पूरे गांव में परेड कराई। यूनुस अभी लातूर जिले के अस्पताल में दाखिल हैं, जहां उनका इलाज चल रहा है। सोमवार को ‘इंडियन एक्सप्रेस’ से बात करते हुए उन्होंने बताया कि 20 फरवरी को करीब 100 लोगों ने सुबह साढ़े आठ बजे पुलिस चौकी पर हमला किया था। यूनुस शेख ने बताया, ‘मैंने कंट्रोलरूम फोन करके स्थिति की जानकारी दे दी थी। मैंने रेनापुर पुलिस स्टेशन के इन्चार्ज से मदद मांगी थी, लेकिन हमले के करीब 2 घंटे बाद तक कोई नहीं आया और तब तक भीड़ मेरे साथ मारपीट कर चुकी थी। उन्होंने मेरी परेड भी कराई…. अपमानित किया।’ यूनुस शेख के परिवार ने इस बात की जांच कराने की मांग की है कि सिर्फ 15 किलोमीटर की दूरी होने के बाद पुलिस समय रहते क्यों नहीं पहुंची?
1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें