‘Lipstick Under My Burkha’ फिल्म के खिलाफ इस्लामिक संगठन का फतवा

मुम्बई: काश झा निर्मित फिल्म ‘लिपस्टिक अंडर माई बुर्का’ पिछले कुछ दिनों से विवादों में घिर गई है और अब इसके साथ एक और नया विवाद जुड़ गया है। फिल्म को लेकर मुस्लिम धर्मगुरुओं में खासा विरोध नजर आ रहा है। फिल्म में बुर्के को एक अलग अंदाज में दिखाने को लेकर एक इस्लामिक संस्था ने तो फतवा भी जारी कर दिया है। आपको बता दें कि फिल्म के रिलीज होने पर पहले से ही सवाल उठ रहे थे। सेंसर बोर्ड ने भी फिल्म को सर्टिफिकेट देने से साफ मना कर दिया है।

इस फिल्म को लेकर मुस्लिम धर्मगुरुओं में खासा विरोध नजर आ रहा है। फिल्म में बुर्के को दिखाने को लेकर एक इस्लामिक संस्था ने तो फतवा भी जारी कर दिया है।

हालांकि फिल्म के रिलीज होने पर पहले से ही सवालिया निशान लगा हुआ है। सेंसर बोर्ड ने फिल्म पर फिलहाल रोक लगा रखी है। प्रकाश झा की फिल्म लिपिस्टिक अंडर माय बुर्का के खिसाफ भोपाल की मुस्लिम त्यौहार कमेटी की मजलिसे शूरा ने फतवा जारी किया है। इस फतवे में फिल्म और फिल्म से जुड़े तमाम लोगों का बहिष्कार करने का फरमान सुनाया गया है। इसके साथ ही फिल्म के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की भी धमकी दी गई है। कमेटी के अध्यक्ष डाॅ औसाफ शाहमीरी खुर्रम ने नाराजगी जताते हुए कहा कि बुर्का इस्लाम का नियम है और इसकी बेइज्जती इस्लाम की बेइज्जती है। उन्होंने एलान किया है कि फिल्म से जुडे़े लोगों का देश भर में विरोध किया जाएगा।

प्रोड्यूसर प्रकाश झा और डायरेक्टर अलंकृता श्रीवास्तव की फिल्म लिपिस्टिक अंडर माय बुर्का की शूटिंग भोपाल में हुई है। प्रकाश झा पहेल भी अपनी फिल्में जैसे अपहरण की शूटिंग भोपाल में करते रहे हैं। इस कारण इस शहर से उन्हें लोगों का खासा प्यार मिलता है। लेकिन इस बार उनकी फिल्म रिलीज होने के पहले ही फिल्म विवादों में घिर गयी है। एक तरफ सेंसर बोर्ड फिल्म पर रोक लगाए हुए है, तो वहीं दूसरी तरफ भोपाल में मुस्लिम त्यौहार कमेटी की मजलिसे शूरा ने फतवा जारी करके फिल्म के विरोध की घोषणा कर दी है।

फतवे में जो बड़ी बाते निकलकर आई हैं। फतवे के अनुसार फिल्म से जुड़े लोगों का देश भर में बहिष्कार किया जाएगा। फिल्म निर्माता प्रकाश झा को भोपाल में घुसने नहीं दिया जाएगा फिल्म से जुड़े लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी भी दी गई है। अब देखना होगा कि प्रकाश झा अपनी फिल्म रिलीज करवाने के लिए सेंसर बोर्ड और मुस्लिम संगठन दोनों को एक साथ कैसे सहमत करवा पाते हैं।

प्रकाश झा की फिल्म लिपिस्टिक अंडर माय बुर्का के खिलाफ भोपाल की मुस्लिम त्यौहार कमेटी की मजलिसे शूरा ने फतवा जारी किया है। इसपर पद्मावती फिल्म को लेकर हुए बवाल पर अभिव्यक्ति आजादी मांगने वाले लोग इसपर बिलकुल खामोश है।

सोशल मीडिया पर लोगों द्वारा सवाल उठाये जा रहे है कि जब पीके जैसी फिल्म रिलीज होने में कोई दिक्कत नहीं होती तो इस फिल्म पर रोक क्यों ?