loading...
‪#‎WomensDay‬ मनाते वक्त याद रखिए, जन्म से लेकर मौत तक, सबका ज़िम्मा हम महिलाओं पर डालते हैं...
loading...
महिला दिवस विशेष: आज दुनिया भर में ‘महिला दिवस’ के ही चर्चे हैं। हर तरफ भाषण-प्रवचन हैं, स्त्री-शक्ति की स्तुतियां हैं, कविताई हैं, संकल्प हैं, बड़ी-बड़ी बातें हैं। आप यक़ीन मानिए यह सब सच नहीं, हमको बेवकूफ़ बनाने के सदियों पुराने नुस्खे है।
हमने अपनी छवि ऐसी बना रखी है कि कोई भी हमारी प्रशंसा कर हम महिलाओं को अपने सांचे में ढाल ले जा सकता है। झूठी तारीफें कर हजारों सालों तक दुनिया के सभी धर्मों और संस्कृतियों ने इतने योजनाबद्ध तरीके से माहारी मानसिक कंडीशनिंग की हैं कि अपनी बेड़ियां और बेचारगी भी हमको आभूषण नज़र आने लगी हैं।
1 of 7
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें