loading...

पूरी दुनिया में मुस्लिमों की आबादी बेहद तेज गति से बढ़ रही है और इस सदी के अंत तक उनकी जनसंख्या सबसे अधिक हो सकती है। यहां तक कि वे ईसाइयों को भी पीछे छोड़ सकते हैं। muslim

loading...
ऐसा इतिहास में पहली बार होगा। यह अनुमान प्यू रिसर्च सेंटर द्वारा जारी रिपोर्ट में लगाया गया है। इस समय पूरी दुनिया के एक तिहाई लोग ईसाई धर्म को मानते हैं।

2.2 अरब समर्थकों के साथ यह धर्म दुनिया में सबसे आगे है लेकिन ऐसा बहुत समय तक नहीं रहेगा। मुस्लिम जिस गति से बढ़ रहे हैं, उस हिसाब से 2050 तक उनकी आबादी दुनिया की 30 फीसदी होगी और 2070 के बाद वे ईसाई धर्म को पार कर सकते हैं।

1.6 से 2.8 अरब तक पहुंच जाएंगे मुस्लिम
रिपोर्ट का अनुमान है कि 2050 तक ईसाइयों की जनसंख्या 2.9 अरब हो जाएगी, जबकि मुस्लिम 1.6 अरब से 2.8 अरब पर पहुंच जाएंगे। रिसर्च सेंटर ने यह संभावना भी जताई कि इस दौरान ईसाइयत का केंद्र यूरोप से हटकर उप सहारा अफ्रीका हो जाएगा।

रिपोर्ट में नास्तिकों यानी किसी धर्म को नहीं मानने वालों की जनसंख्या 2050 तक बेहद कम होने का अनुमान लगाया गया है। दरअसल इसका कारण इस आबादी में जन्म दर का बेहद कम होना है।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
स्रोतbigtime7
शेयर करें