loading...

shendong copy

loading...
भयानक सूखे के संकट से जूझ रहे महाराष्ट्र के मराठवाडा इलाके का अधिकांश पानी बीयर और शराब कंपनियां लील जाती हैं। मराठवाडा के औरंगाबाद, उस्मानाबाद और नांदेड इलाकों में एक साल में 27 करोड़ लीटर शराब का उत्पादन होता है। एक लीटर शराब बनाने में औसतन चार लीटर पानी लगता है। इस हिसाब से मराठवाडा के हिस्से आए पानी में 108 करोड़ लीटर पानी बीयर और शराब कारखानों में लग जाता है।

आधे से ज्यादा पानी शराब की भेंट

1 of 4
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें