loading...

जल्द ही आप 600 से भी ज्यादा चैनल दूरदर्शन के चैनलों की तरह फ्री में देख सकेंगे। दरअसल, दूरदर्शन बहुत ही लेटेस्ट टेक्नोलॉजी DVB-T का उपयोग शुरू करने जा रहा है। DVB-T (Digital Video Broadcast-Terrestrial) टेक्नोलॉजी के अंतर्गत दूरदर्शन अपने ट्रांसमीटरों को डिजिटल बनाने जा रहा है।08_02_2016-doordarshan

गौरतलब है कि इसके लिए देशभर में ट्रांसमीटर लगाए जाएंगे और दूरदर्शन की यह सौगात दर्शकों के लिए जल्द ही शुरू हो जाएगी। इस नइ टेक्नोलॉजी से पेड चैनल भी देखें जा सकेंगे और इनके लिए भी हर महीने कोइ शुल्क नहीं लिया जाएगा। देश में इस समय चैनल दिखाने की दो व्यवस्थाएं है पहला-सैटेलाइट के द्वारा, इससे फिलहाल सारे चैनल दिखाएं जाते हैं और दूसरा- ट्रांसमीटरों के द्वारा, ट्रांसमीटरों के द्वारा प्रसारण का अधिकार केवल दूरदर्शन को ही है।

यह भी पढ़े > विडियो देखिये- भारतीय मीडिया चैनलों के गंदे सत्य उजागर : अभिषेक मिश्रा

loading...

अब इस नइ सेवा से दूरदर्शन की क्षमता अपने दर्शकों को एक चैनल की जगह दस चैनल दिखाने की हो जाएगी।

क्या है खास- 1. दूरदर्शन की इस नइ टेक्नोलॉजी से आप मोबाइल, लैपटॉप, टैबलेट आदि सभी पर आप फ्री में चैनलों को लुत्फ उठा सकेंगे।

2. DVB-T बहुत आधुनिक टेक्नोलॉजी है इससे दूरदर्शन की क्षमता कइ गुना बढ़ जाएगा और ज्यादा से ज्यादा फ्री चैनल दर्शकों को दिखाएं जा सकेंगे।

3. अन्य प्राइवेट कंपनियां देशभर में अपने चैनल सैटेलाइट के द्वारा दिखाती है, लेकिन दूरदर्शन को इस नइ सेवा के लिए यह कंपनियां थोडा सा शुल्क देकर अपनी पसंद के इलाकों में प्रसारण कर सकती है।

4. सेटेलाइट की तुलना में दूरदर्शन से चैनल दिखाना अपेक्षाकृत 25% तक तक सस्ता पड़ेगा।

5. दूरदर्शन द्वारा प्रसारित सभी चैनल आप DVB-T सुविधा से लैस टीवी में नॉर्मल एंटीना लगाकर देख सकेंगे

6. पुराने टीवी में यह चैनल देखने के लिए आपको बस डोंगल की जरूरत पड़ेगी और सेटटॉप बॉक्स को लगाना नहीं पड़ेगा।

यह भी पढ़े > क्या आप जानये है की मीडिया क्यों परोसता है अश्लीलता? : Rajiv Dixit

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें