loading...

देश भर में आये दिन होते रेप और उसके बाद हत्या के मामलों ने दिल्ली को रेप कैपिटल घोषित कर दिया है| आये दिन महिलाओं के शोषण की ख़बरें हमे सोचने पर मजबूर कर देती है कि क्या कोई इंसान इतना हैवान, इतना वहशी भी हो सकता है? हर मामले के बाद पुलिस के खोखले दावों और सरकार के दावों मात्र से लोगों में गुस्सा इतना है की आखिर अपनी सुरक्षा की जिम्मेदारी दें भी तो किसे?

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के आंकड़ों का हवाला देते हुए भारत सरकार की एचआरडी मंत्री स्मृति ईरानी ने लोकसभा को हाल ही में सूचित किया था कि अप्रैल 2014 और मार्च 2015 के बीच देश भर के उच्च शिक्षा संस्थानों से यौन उत्पीड़न के 75 मामले सामने आये है| यूजीसी ने महिला लेक्चरों, प्रोफेसरों और शोधकर्ताओं के खिलाफ दर्ज हुए यौन उत्पीड़न के इन मामलों को 84 विश्वविद्यालयों से एकत्रित जानकारी के आधार पर तैयार किया है|

अब खुद सोचिये शिक्षा संस्थानों से अगर ऐसी खबरे आये तो देश में महिलाओं की क्या ही स्थिति होगी?

रेप जैसी अमानवीय घटना पर इस लड़की ने जो भी बोला उसे सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें…

Click on Next Button For Next Slide

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें