loading...

नई दिल्ली(17 जनवरी): आतंकी सगठन आईएस लड़ाकों की भर्ती की लिए सोशल मीडिया का जमकर इस्तेमाल करता हैं। सरकार ने भी इस बात को माना है कि आईएस सोशल मीडिया के जरिए देश में अपने आतंक का नेटवर्क चलाने की कोशिश कर रहा है। social-media-

loading...
सरकार ने अब इस प्लेटफॉर्म पर इसका प्रसार करने वाले और इनकी चपेट में आने वालों पर नजर रखने के लिए एक सेल का गठन किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ऐसे लोगों को ट्रैक करने के लिए 100 से अधिक कैचवर्ड बनाए गए हैं, जिनके बदौलत फेसबुक और टि्वटर पर ऐसे कंटेंट को हमेशा ट्रैक किया जाएगा।

इस सेल में साइबर वर्ल्ड के जाने-माने एक्सपर्ट्स को रखा गया है। यह टीम हर हफ्ते अपनी रिपोर्ट होम मिनिस्ट्री को सौंपेगी और बीच में किसी संदिग्ध कंटेंट या लोगों की बातों पर संदेह होने पर तुरंत सुरक्षा एजेंसी को आगाह करेगी।

सरकार का मानना है कि यदि उस वक्त हमने ऐसे किसी सेल का गठन किया होता और वह काम कर रहा होता तो इन सभी को समय रहते पकड़ा जा सकता था।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें