loading...

श्रीनगर। श्रीनगर में संसद हमले के दोषी अफजल गुरु की तीसरी बरसी पर होने वाले प्रदर्शन को देखते हुए कर्फ्यू जैसी रोक लगा दी गई है। पुलिसकर्मी श्रीनगर शहर में स्थित कमर्शियल हब रेजीडेंसी रोड और लाल चौक पर तैनात रहे जिससे लोगों को काफी असुविधा हुई। उन्होंने मीडियाकर्मियों सहित अन्य लोगों को वहां से निकलने की इजाजत नहीं दी। मीडियाकर्मी रेजीडेंसी रोड पर प्रेस एंक्लेव स्थित अपने दफ्तरों में जाना चाह रहे थे, लेकिन पुलिसकर्मियों ने उन्हें वहां से गुजरने की अनुमति नहीं दी।srinagar_curfew_jk_pti

loading...
रेजीडेंसी रोड इलाके में संवाददाताओं ने अपना पहचानपत्र तक दिखाया, लेकिन वहां तैनात एक कांस्टेबल ने उन्हें अनुमति न होने की बात कहते हुए रोक दिया। श्रीनगर शहर के अंतर्गत पड़ने वाले पांच थानाक्षेत्र में मंगलवार को संसद हमले के दोषी अफजल गुरु की तीसरी बरसी पर अलगाववादियों के संभावित विरोध-प्रदर्शन को देखते हुए रोक लगा दी गई थी। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि हमें बुधवार को लाल चौक इलाके में अलगाववादियों के विरोध-प्रदर्शन की फिराक में होने की खबर मिली है।

अलगाववादियों द्वारा बंद बुलाए जाने के बाद पुलिस ने सोमवार को जम्मू एवं कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के अध्यक्ष यासीन मलिक को गिरफ्तार कर लिया था, वह अब भी पुलिस निगरानी में हैं। अलगाववादियों ने जेकेएलएफ के संस्थापक मुहम्मद मकबूल भट्ट की बरसी के चलते गुरुवार को एक बंद बुलाया है। भट्ट को 11 फरवरी, 1984 को दिल्ली की तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई थी।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें