loading...
नई दिल्ली।  अमेरिका के एक मीट पैकिंग प्लांट से करीब 200 मुस्लिम कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया गया है। इन सभी को कथित रूप से काम के समय अपने औजार छोड़ देने की वजह से काम से निकाला गया है।01
loading...
पाकिस्तानी अखबार ‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ की रिपोर्ट के मुताबिक, इन कर्मचारियों में से ज्यादातर सोमालिया के प्रवासी हैं। ये सभी कोलोरोडो के फोर्ट मॉर्गन में कारगिल मीट सॉल्यूशन्स में काम करते थे। इन कर्मचारियों ने नमाज के लिए काम के समय अपर्याप्त समय देने की व्यवस्था का आरोप लगाते हुए विरोध में वॉकआउट भी किया था।
‘द टेलीग्राफ’ के मुताबिक, हालांकि, कम्पनी ने मुस्लिम कर्मचारियों के लिए साल 2009 से नमाज के लिए अलग से ‘रिफ्लैक्शन रूम’ भी उपलब्ध कराया था। लेकिन कर्मचारियों का आरोप है, कि यह पॉलिसी अब बदल दी गई है।
काउंसिल ऑन अमेरिकन-इस्लामिक रिलेशन्स (सीएआईआर) के प्रवक्ता जयलानी हुसैन ने बताया, ”ये सभी कर्मचारी अच्छे कर्मचारी हैं और इन्हें अन्य कोई समस्या नहीं है। उन्हें लगता है कि नमाज छो़ड़ना नौकरी चले जाने से बदतर है। ये अल्लाह के आशीर्वाद को खो देने की तरह है।”
सीएआईआर ने दावा किया है कि कर्मचारियों के साथ पूर्वाग्रह के साथ व्यवहार किया जाता था। उनसे कहा जाता था, ”अगर तुम नमाज करना चाहते तो घर जाओ।” हालांकि, कम्पनी कारगिल मीट सॉल्यूशन्स ने कहा है कि एक ‘गलतफहमी’ रही है। साथ ही उन्हें नमाज करने के लिए समय देने की पॉलिसी बदली नहीं गई है।
कम्पनी के एक प्रवक्ता ने बताया, इसके बाद भी, कम्पनी के प्लांट मैनेजर्स ने कर्मचारियों, सोमाली समुदाय के सदस्यों और यूनियन लीडर्स के साथ मुलाकात भी की। लेकिन मामले को सुलझा ना सके। उन्होंने बताया कि कर्मचारियों को बताया गया था कि अगर वे तीन दिन लगातार वापस लौटकर नहीं आते हैं, तो उनकी नौकरी जाने का खतरा बना रहेगा। इसके बाद भी 200 लोगों के वापस नहीं लौटने पर उन्हें बर्खास्त कर दिया गया।
कम्पनी प्रवक्ता ने बताया, ”कारगिल अपने सभी कर्मचारियों को धार्मिक आधार पर हरसंभव व्यवस्था प्रदान करने के लिए पूरी कोशिश करता है। अपनी क्षमता के अनुसार की जा सकने वाली सभी व्यवस्थाएं बिना किसी व्यवधान के बीफ प्रोसेसिंग बिजनेस में की गईं। कारगिल ने किसी भी मौके पर लोगों को फोर्ट मॉर्गन में नमाज करने से नहीं रोका। ना ही हमने धार्मिक आवास और उपस्थिति को लेकर अपनी नीतियां बदली हैं। इसे गलत तरह से पेश किया गया है।”
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें