अब जबलपुर, भोपाल समेत 300 रेलवे स्टेशनों पर नहीं बिकेंगी टॉइलेट क्लीनर

300 रेलवे स्टेशनों पर नहीं बिकेंगी कोल्ड ड्रिंक

Read Also : Justin Bieber आ रहे हैं इंडिया, टिकट का दाम सुनकर आयेगा पसीना

जबलपुर: जबलपुर, भोपाल समेत 300 स्टेशनों पर अब शरीर के नुकसानदायक जहरीला कोल्ड ड्रिंक नहीं बेची जा सकेगी। लोकसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री द्वारा कोल्ड ड्रिंक में जहरीले तत्व मिले होने की जानकारी देने के बाद पश्चिम मध्य रेलवे (पमरे) जोन के कमर्शियल विभाग ने यह निर्णय लिया है।

इस आदेश के बाद अब स्टेशनों पर कोक, पेप्सी सहित किसी भी कंपनी के कोल्ड ड्रिंक की ब्रिकी नहीं हो सकेगी। जनवरी में पमरे ने रेलवे कैंटीनों पर बिकने वाले खाद्य पदार्थों की एक सूची जारी कि जिसमें इन प्रमुख बहुराष्ट्रीय कंपनियों के उत्पादों का नाम नहीं है। रेलवे अधिकारी फरवरी से कोल्ड ड्रिंक के स्टॉक की जानकारी लेकर सभी स्टॉल को हटाने के लिए कहा है।

Read Also : Video देखें: लॉन्च होते ही अबतक 50 लाख लोगों ने देखा यह गाना

स्टेशन से हटाना होगी कोल्डड्रिंक
कोल्ड ड्रिंक बंद करने का निर्णय लेने वाला पमरे देश का पहला रेलवे जोन बन गया है। इस आदेश के जारी होने के बाद पश्चिम मध्य रेलवे के तीन रेल मंडल जबलपुर, भोपाल, कोटा के अंतर्गत आने वाले तकरीबन 300 स्टेशनों पर कोल्ड ड्रिंक की ब्रिकी पर रोक लगा दी गई है। हालांकि अभी स्टॉल पर कोल्ड ड्रिंक का स्टॉक है, इसकी चेकिंग करके बंद करने के लिए कहा जा रहा है।

ट्रेन में बंद करने का निर्णय रेलवे बोर्ड लेगा
पमरे ने रेलवे बोर्ड को भी पत्र लिखकर दूसरे 16 रेल जोन में भी कोल्ड ड्रिंक की बिक्री पर रोक लगाने का अनुरोध किया है। ट्रेन में चलने वाले पेंट्रीकार का ठेका आईआरसीटीसी देती है। ट्रेन में कोल्ड ड्रिंक को प्रतिबंध करने के लिए रेलवे बोर्ड और आईआरसीटीसी को निर्णय लेना है।

Read Also : इस आदमी ने ऐसा रिकॉर्ड बनाया है, जिसे न कोई बनाया था न बना पाएगा!

मिल्क और हेल्थ ड्रिंक मिलते रहेंगे
स्टेशनों पर मिल्क और हेल्थ ड्रिंक (फ्रूट जूस) की बिक्री पर जोर दिया गया है। इसके बाद इस साल 5 हेल्थ ड्रिंक कंपनियों को प्रोडक्ट बेचने की अनुमति दी गई है। इनमें दो मिल्क प्रोडक्ट को भी शामिल किया गया है। इधर कोल्ड ड्रिंक कंपनी के अधिकारियों ने टेस्ट रिपोर्ट को गलत बताया है।

कोका कोला और पेप्सी में घातक तत्व
राज्यसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने 22 नवंबर को लिखित जानकारी दी कि कोका कोला और पेप्सी जैसी दो बड़ी कंपनियों के 5 कोल्ड ड्रिंक ब्रांड की जांच कराई गई थी, जिनमें लेड के अलावा केडमियन और क्रोमियम जैसे दो घातक तत्व भी पाए गए हैं।

Read Also : आई दहशतगर्दी की आंच तो टूटी नींद, सेना ने 24 घंटे में ही मार गिराए 100 आतंकी

ये तत्व स्प्राइट, माउंटेन ड्यू, 7अप, पेप्सी, कोका कोला के लिए सैंपल्स में पाए गए हैं। इन सैंपलों को जांच के लिए कोलकाता स्थित नेशनल टेस्ट हाउस में भेजा गया था। रिपोर्ट के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्रालय ने पिछले साल अप्रैल में बोतलों में बेचे जाने वाली दवाइयों, कोल्ड ड्रिंक, शराब, जूस और अन्य पेय पदार्थों की जांच के निर्देश दिए थे।

पश्चिम मध्य रेलवे के सभी स्टेशनों पर कोका कोला और पेप्सी सहित सभी कोल्ड ड्रिंक की ब्रिकी पर रोक लगा दी है। केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने इन कोल्ड ड्रिंक में मानक से ज्यादा हानिककारक तत्व मिलने की बात स्वीकार की गई थी। – मनोज सेठ, सीसीएम, पमरे

Read Also : ब्लॉग: ये है दुनिया का सबसे बडा घोटाला, यह महा घोटाला चार तरह से किया गया है।