loading...

एक तरफ आतंकवाद के मुद्दे पर जहां पाकिस्तान पूरी दुनिया में अलग-थलग पड़ता दिखाई दे रहा है वहीं पाकिस्तान को सपोर्ट करने वाला चीन अभी भी उसके साथ खड़ा है l कई ऐसे मौके आए हैं जब चीन ने खुलकर पाकिस्तान की तरफदारी की है और उसे अलग-थलग करने से बचाया है l पाकिस्तान में रह रहे कई ऐसे आतंकवादी है, जिन्हें बैन करने का प्रस्ताव UN में लाया गया लेकिन चीन ने अपने वीटो से मसूद अज़हर जैसे खूंखार आतंकवादी को बैन होने से बचा लिया l भारत हमेशा चाहता रहा है कि आतंकवाद के मुद्दे पर सभी देश मिलकर लड़े, लेकिन चीन ने हमेशा पाकिस्तान का ही साथ दिया है l इसके पीछे एक वजह ये भी है कि चीन नही चाहता कि एशिया में उसके अलावा किसी और देश का धाक हो, लेकिन भारत ही ऐसा देश है जो चीन की बराबरी कर सकता है l इसलिए चीन हमेशा भारत के विरोधियों के साथ खड़ा दिखाई देता है l

nawaj-and-xi-modi

loading...

अभी गोवा में हुए ब्रिक्स सम्मेलन में मोदी ने आतंकवाद को लेकर कहा कि आतंकवाद को लेकर दोहरे मापदंड से सभी देशों को नुकसान होगा इसलिए अब सभी देशों को आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होकर लड़ना होगा l पाकिस्तान द्वारा आतंकियों के सरंक्षण के मसले पर प्रधानमंत्री मोदी ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा कि ‘आतंकवाद हमारे पड़ोसी देश का दुलारा बन गया है और अब यही दुलारा बच्चा अपने मां-बाप के व्यव्हार के बारे में बता रहा है l’ इस सम्मेलन में मोदी ने पाकिस्तान को दो टूक में कहा कि “अब दोहरे मापदंड से काम नही चलेगा l” इन सब पर चीन की तरफ से जवाब आया है, जिससे पाकिस्तान को लेकर चीन का झुकाव आसानी से समझा जा सकता है l

आगे पढ़िए…अलग-थलग पड़ते पाकिस्तान को लेकर छलका चीन का दर्द और कहा…

 

Click on Next Button For Next Slide

1 of 3
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें