तो इतना खतरनाक है प्रेग्नेंट महिला का प्लास्टिक की बोतल में पानी पीना, जानिए

 ...तो इतना खतरनाक है प्रेग्नेंट महिला का प्लास्टिक की बोतल में पानी पीना, जानिए - India TV

Read Also : पीएम मोदी के घर पर एसपीजी की महिलाएं रात में ड्यूटी क्यों नहीं करना चाहतीं?

हेल्थ डेस्क: प्रेग्नेंसी के समय खुद का बहुत अधिक ख्याल रखना पड़ता है। जिससे कि आपको किसी भी तरह की समस्या न हो। दिनचर्या के साथ-साथ खानपान का भी पूरा ध्यान रखा जाता है।  हर महिला का एक सपना होता है कि वह मां बने। माना जाता है कि तभी वह पूर्ण रुप से महिला कहलाती है। जो कि एक अलग ही अनुभव होता है। प्रेग्नेंसी एक ऐसी अवस्था होती है जिसमें महिलाओं को कई समस्याओ का सामना करना पडता है।

Read Also : मुस्लिम महिलाओं की मुस्लिम नेताओं के खिलाफ बगावत, पुतला फूंका : देखें विडियो !

इस अवस्था में अपना अधिक ख्याल रखना पडता है क्योंकि आपके द्वारा किया गया हर काम का असर आपके होने वाले बच्चे में पड़ सकता है। इसलिए इस अवस्था में अपना अधिक ध्यान रखने की जरुरत पडती है। हमारी एक छोटी सी गलती हमारे लिए खतरनाक साबित हो सकती है।

Read Also : जानिये आखिर क्यों मुस्लिम महिलाएं इस्लाम छोड़कर अपना रही है हिन्दू धर्म ?

पानी हमें फिट रखने में काफी मददगार है। जब भी हम घर से बाहर निकलते है, तो प्लास्टिक की बोतल में घर से ही पानी ले जाते है या फिर बाहर से खरीद लेते है, लेकिन आप ये बात नहीं जानते होगे कि प्रेग्नेंसी के सम बाहर से पानी लेकर पानी मां और बच्चे के लिए कितना खतरनाक है। इससे दोनों की सेहत पर फर्क पड़ता है। इस बात का खुलासा एक रिसर्च के माध्यम में हुआ।

Read Also : गजब : एक ऐसा गाँव जहाँ की महिलाओं के बाल होते हैं 7 फुट लंबे

एक हालिया अध्ययन में खुलासा किया है कि प्रेग्नेंसी में प्लास्ट‍िक बोतल से पानी पीना हार्मोनल बदलाव की वजह बन सकता है। वास्तव में प्लास्टिक बोतल में पाया जाने वाला बिसफेनोल शरीर में भूख को नियंत्रित करने वाले हार्मोन को भी दबा देता है। इसकी वजह से प्रेग्नेंट महिला की भूख भी प्रभावित हो जाती है। यह अध्ययन द एंड्रोक्राइन सोसाइटी द्वारा कराया गया था।

अगली स्लाइड में पढ़े बोतल क्यों है सेहत के लिए खतरनाक

कफ से परेशान हैं? आपके कफ को पूरी तरह से दूर कर देगा ये बेहतरीन उपाय

Read Also : चश्मा कितने भी नंबर का हो वो भी उतरेगा, दाद कैसा भी हो वो भी ठीक होगा, निशुल्क उपाय

क्‍या आप कफ से परेशान है और नमक के पानी के गरारे कर-करके परेशान हो चुके है तो हम आपके लिए लाये है एक ऐसा उपाय जो बिना किसी परेशानी के आपकी समस्‍या को दूर कर देगा। जी हां केले का सेवन शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इसे खाने से एनर्जी के साथ-साथ भरपूर मात्रा में विटामिन-ए, विटामिन-बी और मैग्नीशियम मिलता है। सा‍थ ही केले में विटामिन सी, बी-6 पोटैशियम, थायमिन, राइबोफ्लेविन भी होता है। जो बच्‍चों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि यह हीलिंग क्रीमी केला खांसी का एक उत्‍कृष्‍ट प्राकृतिक उपाय है और लगातार होने वाली कफ और ब्रोंकाइटिस के इलाज में काफी फायदेमंद होता है।

Read Also : यहाँ Click करके जानिये Jaundice यानि पीलिया के कारण लक्षण और उपचार

कफ का अचूक इलाज

  • यह बच्‍चों के लिए विशेष रूप से प्रभावी होता है, लेकिन यह बड़ों द्वारा भी इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • पेट के लिए लाभदायक केला स्‍वादिष्‍ट, स्‍वस्‍थ और पौष्टिक भी होता है।
  • बच्‍चे के गले में खराश या लगातार खांसी होने पर इस अद्भुत क्रीम को बनाना चाहिए- इसे तैयार करना बहुत ही आसान है। आइए इसे तैयार करने की विधि के बारे में जानें।

Read Also : तो इतना खतरनाक है प्रेग्नेंट महिला का प्लास्टिक की बोतल में पानी पीना, जानिए

कफ के लिए केला और शहद बनाने की सामग्री

  • 2 मध्यम आकार के पके हुए केले (डॉट्स वाले अच्‍छे रहते हैं)
  • 2 बड़ा चम्‍मच चीनी या शहद (अगर आप इसमें शहद मिला रहे है तो मिश्रण को ठंडा होने पर मिलायें क्‍योंकि उच्‍च तापमान में शहद अपने गुणों को खो देता है।
  • 400 मिलीलीटर उबलता पानी।

Read Also : डायबिटीज़ से जूझ रहे हैं? ये काला टमाटर कर देगा आपका इलाज

बनाने का तरीका

  • केले लेकर छिलका निकाल लें। फिर इसे चम्‍मच और कांटे की मदद मैश करें (कोशिश करें कि चम्‍मच लकड़ी या प्लास्टिक का ही हो)।
  • अब इस पेस्‍ट में गर्म पानी डालकर कवर करें और इसे 30 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • अगर आपको शहद का उपयोग करना हैं तो पेस्‍ट के ठंडा होने के बाद ही इसे मिलाये।
  • अंत में पेस्‍ट को प्‍लास्टिक की छलनी से छान लें।

अगले पृष्ठ पर पूरी जानकारी 

Video: सांप, बिच्छु, चूहे या अन्य ज़हरीले जानवरों के जहर का केले के पानी रामबाण इलाज

आज हम आप को बताने जा रहें हैं एक ऐसा सरल घरेलु उपयोग जो दिखने में बहुत सरल सा है मगर यह अनेक जहरीले जानवरों के ज़हर निकालने में बेहद कारगार है। ये प्रयोग सिर्फ ज़हर के प्रभाव को कम करने तक ही सिमित नहीं है, इस प्रयोग से ऐसे अनेक असाध्य रोग सही होंगे जिनकी आप दवा ले ले कर परेशान हो गए हैं। तो आइये जानते हैं ये सरल सा प्रयोग।

ये प्रयोग है केले के पानी का। आज हम आपको बताएँगे के ये केले का पानी किसी अमृत से कम नहीं है।

केले के पानी के सेवन करने से हैजे के कीड़े मर जाते हैं। सांप के काटने पर इसको पिलाने और लगाने से बड़ा उपकार होता है। अनेक जगहों पर सर्प आदि विषैले जानवरों के काटने पर केले का जल देने की पुरानी परम्परा है। संखिया, हरताल और पारे के विष, बिच्छू के ज़हर, और चूहे के ज़हर पर भी यह परमोत्तम औषिधि का काम करता है। अभी तो आधुनिक डॉक्टर भी इसका लोहा मानते हैं और सर्प विष की उत्तम दवा कहते हैं।

इसके सिवा केले का रस पिलाने से सूजन, खांसी, श्वांस अमल्पित्त, पीलिया कामला, पित्त विकार, दाह, यकृत (लीवर) की सूजन, तिल्ली का बढ़ना, रक्तपित्त, अतिसार, खून की गर्मी, काफ का जमाव, जलोदर, शीत पित्त, फीलपांव (हाथी पाँव), प्रदर रोग, योनी रोग, प्रमेह और उपदंश, गर्मी रोग आदि में आराम होता है. इसमें कोई दो राय नहीं है के केले का रस अनेक दुसाध्य और भयंकर रोगों के बीजों का नाश ही कर देता है।

केले का पानी या रस निकालने की विधि

सबसे पहले केले के पेड़ के तने को ज़रूरत के अनुसार काट लीजिये. अभी इस केले के खंभ को कूट पीसकर किसी मलमल के कपडे में रख कर इसको निचोड़ लो। इसमें से जो पानी निकलेगा, उसे ही केले का पानी या रस कहते हैं। यह रस अमूल्य औषधि है।

अगले पृष्ठ पर विडियो देखिये 

ये 5 फल बढ़ाते हैं सुंदरता, सेवन से आप भी हो जाएंगे खूबसूरत

 ये 5 फल बढ़ाते हैं सुंदरता, सेवन से आप भी हो जाएंगे खूबसूरत

Read Also : Video: मोदी जी ने मुझे नहीं छोड़ा बल्कि राष्ट्र के लिए मैं ख़ुद अलग हुई थी – पीएम की पत्नी

अधिकांश लोग इस बात पर यकीन नहीं करते हैं कि खूबसूरती का खानपान से सीधा संबंध होता है। जब कि यह बात हकीकत में सच है। आप जो भी खाते पीते हैं उसका असर आप पर साफ दिखता है। ऐसे में आप कोशिश करें कि फलों का इस्‍तेमाल ज्‍यादा से ज्‍यादा करें जिससे आपका शरीर खिले। अब आप सोच रहे होंगे कि फल तो बहुत हैं तो कौन सा खाएं। आइए यहां पर पढ़ें इन 5 फलों के बारे में जिनके अंदर पाएं जानें वाले गुणों से आप होंगे खूबसूरत…

Read Also : इस मशहूर होटल में पैरों से गूथा जाता था आटा, Video वायरल होने के बाद पड़ा छापा

Read Also : Video : देखिए क्या हुआ जब इस आर्टिस्ट ने की मेकप वीडियोज़ की नकल !

आम: आम में  विटामिन ए, सी, ई, के, मिनरल, कैल्शियम और मैग्निशियम पाया जाता है। जिससे त्‍वचा में ताजगी यौवनपन और गोरापन आता है। इसके अलावा झुर्रियां और बुढ़ापा भी जल्‍दी नहीं आता है। आम के सेवन से त्वचा और बाल मुलायम व चमकीले होते हैं।

Read Also : Video: नाबालिग हिंदु लड़कियों के बलात्कार और धर्म परिवर्तन का वीडियो वायरल

सेब: सेब में पेक्टिन पाई जाती है। जिससे इसे ‘स्किन टोनर’ माना जाता है। इसके अलावा सेब में एंटी ऑक्सीडेंट और फ्रूट एसिड भी होता है। जिससे आपकी त्‍वचा खिल उठती है। सेब के पेस्‍ट को चेहरे पर लगाने से चेहरे की त्‍वचा खिल उठती है।

Read Also : Video: सांप, बिच्छु, चूहे या अन्य ज़हरीले जानवरों के जहर का केले के पानी रामबाण इलाज

पपीता:  पपीता में विटामिन ए, बी, सी,  मैग्निशियम से परिपूर्ण एंटी आक्सीडेंट और पपेन नाम का एनजाईम होता है। जिससे इसके हर दिन के सेवन से त्वचा की रंगत में निखार आता है। इसके अलावा पपीते को चेहरे पर लगाने से भी चमक आती है।

Read Also : Video: ट्रेलर देखिये, इस हिन्दू राजा के जीवन पर बनी ये फिल्म तोड़ देगी सारे विश्व रिकॉर्ड

केला: केले में पोटैशियम और विटामिन-सी अच्‍छी मात्रा में पाया जाता है। यह दोनों ही चीजें बालों और त्‍वचा के लिए बेहद जरूरी होती हैं। केले का पेस्‍ट फेसपैक और हेयर पैक के रूप में इस्‍तेमाल किया जा सकता है। इससे बाल चमक उठते हैं।

Read Also : Video : बकरियां फल का इंतजार नहीं करतीं, पेड़ पर चढ़ जाती हैं, इनकी पोटी से बनता है ये तेल

नींबू: नीबू में विटामिन सी और मिनरल होने से इससे त्वचा गोरी होती है। इसके अलावा इसके छिलके को भी दाग धब्‍बों पर घिसने पर वो थोड़ा हल्‍के हो जाते हैं। नींबू का रस और दानेदार चीनी को हथेलियों पर घिसने से त्‍वचा मुलायम होती है।

सरसों के तेल से इस प्रकार से मात्र 2 मिनट में दांतों का पीलापन दूर करें

लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए खिलखिलाती मुस्कान बहुत जरूरी होती है। और खिलखिलाती मुस्कान के लिए मोतियों जैसे सफेद दांतों की जरूरत पड़ती है। लेकिन अधिकतर लोग दांतो में पीलापन या कालापन होने के कारण किसी के सामने खुल कर ना तो बात कर पाते हैं और ना ही हंस पाते हैं। अगर दांतों के पीलापन होने पर भी व्यक्ति खुलकर हंसता है तो कोई ना कोई जरूर टोक देता है। जिसके चलते व्यक्ति की पर्सनेलिटी तो खराब होती ही है साथ ही उस व्यक्ति को भारी शर्म भी महसूस होती है। अगर आप भी अपनी रोममर्रा की जिंदगी में दांतों को लेकर इस तरह की शर्मिंदगी का सामना कर रहे हैं तो अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। आज हम आपको दांतों का पीलापन दूर करने के लिए एक ऐसा घरेलू नुस्खा बता रहे हैं जिसके प्रयोग से आप सिर्फ 2 मिनट में सफेद और चमकदार दांत पा लेंगे।

लोगों को दांतों से संबंधित कई तरह की समस्याएं होती हैं। किसी के दांतों में पीलापन और कालापन होता है तो कुछ लोगों को दांतों में कीड़ा लगने की समस्या होती है। जो लोग दूषित खानपान, अधिक चाय या कॉफी का सेवन या दांतों की सफाई नहीं करते हैं उन्हें दांतों से संबंधित अधिक समस्याएं होती हैं। आज हम 2 मिनट में पीले दांतों को सफेद करने के लिए जिस घरेलू नुस्खे की बात कर रहे हैं उसका नाम है सरसों का तेल। जी हां, सब्जी छौंकने और सिर पर लगाने के अलावा सरसों का तेल दांतों का पीलापन चुटकियों में दूर करता है।

सरसों के तेल से दांत चमकाने के लिए आपको लगभग 2 चम्म्च सरसों का तेल, 1 चम्मच नमक और 1 चम्मच बेकिंग पाउडर की जरूरत होती है। सरसों का तेल और नमक का मिश्रण दांतों का पीलापन और दांतों से संबंधित हर समस्या को दूर करने के लिए वरदान है। इसे उपयोग में लाने के लिए 1 चम्मच सरसों के तेल में आधा चम्मच नमक मिलाकर लगभग 10 मिनट तक हल्के हाथों से दांतों की मालिश करें।

इस नुस्खे का असर आपको अपने पीले दांतों पर तुरंत दिख जाएगा। इसके अलावा आप सरसों के तेल में बेकिंग सोडा मिलाकर भी अपने दांतों को साफ कर सकत हैं। अगर आपको दांतों में दर्द और पीलापन दोनों परेशानियां है तो आप रोजाना सुबह सरसों के तेल में नमक मिलाकर पेस्ट बनाएं और इसे अपने ब्रश में रखकर दातुन करें। इससे आपकी दांतों से संबंधित सभी बीमारियां तो दूर होंगी ही साथ ही आपके दांत स्वस्थ, मजबूत और चमकदार भी होंगे।

डायबिटीज़ से जूझ रहे हैं? ये 'काला टमाटर' कर देगा आपका इलाज

हेल्थ डेस्क ( डॉक्टर अंसुमन गुप्ता जी ) : अगर आप शुगर से लड़कर थक चुके हैं तो काला टमाटर आपके लिए रामबाण साबित हो सकता है। यूं तो यह भारत में नहीं उगाया जाता लेकिन शुगर के मरीजों के लिए वहां से मंगाया जा सकता है।

काले टमाटर को सबसे पहले ब्रिटेन में उगाया गया। इस टमाटर को उगाने का श्रेय रे ब्राउन को जाता है। इस टमाटर को जेनेटिक म्यूटेशन के द्वारा बनाया गया है।

जानिए इसके जबरदस्त फायदे

  • काले टमाटर में फ्री रेडिकल्स से लड़ने की क्षमता होती है। फ्री रेडिकल्स बहुत ज्यादा सक्रिय सेल्स होते हैं जो स्वस्थ सेल्स को नुकसान पहुंचाते हैं। इस तरह ये टमाटर कैंसर से रोकथाम करने में सक्षम है।

 

  • ये टमाटर आंखों के लिए भी बहुत फायदेमंद हैं। ये शरीर की विटामिन ए और विटामिन सी की जरुरत को पूरा करता है। विटामिन ए आंखों के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

 

  • अगर आप नियमित रूप से काले टमाटरों का सेवन करते हैं तो आप दिल से जुड़ी बीमारियों से भी बचे रह सकते हैं। इसमें पाया जाने वाले एंथोसाइनिन आपको हार्ट अटैक से बचाता है और आपके दिल को सुरक्षा प्रदान करता है।

 

  • इस टमाटर में एंटीऑक्सीडेंट मिनरल्स जैसे मैग्नीशियम और पोटेशियम भी पाया जाता है जो आपके रक्त संचार को भी बेहतर बनाता है और ब्लड प्रेशर की समस्याओं से निजात दिलाता है।

 

  • इसके अलावा ये टमाटर मोटापा दूर करने में भी कारगर है। इसे खाने से बैड कोलेस्ट्रोल कम होता है जिससे वजन कम होता है।

कद्दू के बीज के पांच ऐसे फायदे जिन्हें जानकर आप दंग रह जाएंगे

कद्दू के बीज में इतने गुण हैं कि ये सोने के भाव बिकना चाहिये

हालांकि बहुत कम लोगों को ही कद्दू की सब्जी पसंद होती है लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि कद्दू में कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो दूसरी किसी सब्जी में नहीं मिलते। वैसे, एक ओर जहां कद्दू बेहद फायदेमंद सब्जी है वहीं इसके बीजों में भी पोषक तत्वों का खजाना भरा हुआ है। कद्दू एक विशेष भोज्य पदार्थ है जो कि महत्तवपूर्ण अवसरों पर भारतीय रसोई में जरूर बनाया जाता है । कद्दू की जो भी विशेषता है उसके बारे में ज्यादा गहराई में ना जाते हुये इस पोस्ट में हम बात करेंगे अक्सर नजरअन्दाज कर दिये जाने वाले कद्दू के बीजों के बारे में । कद्दू के बीजों से हमें बहुत सारे लाभकारी फायदे हैं जिनके बारे में हम जानेंगे इस पोस्ट में।

मूड़ बेहतर करते हैं कद्दू के बीज :- कद्दू के बीजों में L-tryptophan नामक यौगिक पाया जाता है जो कि अवसाद ग्रस्त और ज्यादा मानसिक थकान होने के कारण हो जाने वाले चिड़चिड़ेपन से मुक्ति दिलाने में बहुत लाभ करता है । इस लाभ को पाने के लिये गाय के एक गिलास दूध के साथ कद्दू के 2-3 बीजों को चबाकर खाना चाहिये, रात को सोने से पहले । अगले दिन सुबह आप अपने मूड़ को काफी बेहतर महसूस करोगे ।

खाली पेट करें इस जूस का सेवन और पाएं डायबिटीज से हमेशा के लिए निजात

खाली पेट करें इस जूस का सेवन और पाएं डायबिटीज से हमेशा के लिए निजात - India TV

लगातार 7 दिन लहसुन और शहद का सेवन करने के फायदे जान हैरान रह जाएगे आप

हेल्थ डेस्क: भागदौड़ भरी लाइफ में असमय खान-पान और अनियमित दिनचर्या के कारण कई शारीरिक और मानसिक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। मोटापा, डायबिटीज, हार्ट अटैक जैसी न जाने कितनी समस्याएं निकल कर सामने आ रही है। जिससे बचने के लिए हम अपनी बॉडी को फिट रखने के लिए जिम, एक्सरसाइज करते है। जिससे हम बीमारी से बचे रहे, लेकिन की लोग ऐसे होते है कि उनके पास इतना समय नहीं होता है कि वह एक्सरसाइज, जिम, योगा में समय दे सके। जिसके कारण उन्हें मोटापा, डायबिटीज जैसी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

चश्मा कितने भी नंबर का हो वो भी उतरेगा, दाद कैसा भी हो वो भी ठीक होगा, निशुल्क उपाय

अगर इसे समय में कंट्रोल न की गई तो यह आपके लिए काफी हानिकारक साबित हो सकती है। आज भारत में लगभग इस बीमारी से लगभग 4.5 करोड़ लोग शिकार है। जो अपने आप पर एक बड़ी संख्या है। और यह आंकडे तेजी से बढते जा रहे है। यह समस्या हर उम्र के लोगों को हो रही है। चाहें फिर वह बच्चा ही क्यों न हो। सार्दियों के मौसम में यह समस्या और बढ़ जाती है।

हस्तमैथुन की आदत पड़ी हुई है तो उसे छोड़ने के 25 सबसे आसान उपाय जरूर पढ़े व Share करे!

अपनी सेहत को सर्दियों में बचाकर रखना पडता है। क्योंकि इस मौसम में रक्त में शर्करा (ब्लड शुगर) के स्तर पर मौसम सीधा असर डालता है। सर्दियों में रक्त गाढ़ा हो जाता है और इस वजह से ब्लड शुगर का स्तर बदलता रहता है।

18 रोगों की एक ही घरेलु दवाई, इस तरह से अपने घर पर ही बनाइये

अगले पृष्ठ में पढ़े कैसे बनाएं जूस को

सरकार ने तोड़ी दवा माफिया की कमर, देशभर में खोले जाएंगे तीन हजार जनौषधि केंद्र

नई दिल्ली : देशवासियों को सस्ती दरों पर दवाइयां उपलब्ध कराने के लिए मार्च, 2017 तक देशभर में तीन हजार प्रधानमंत्री भारतीय जनौषधि केंद्र (पीएमबीजेके) खोले जाएंगे। पीएमबीजेके के अंतर्गत सभी लोगों को सस्ती दरों पर दवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। सरकार का यह कदम दवा माफिया की कमर तोड़ने वाला माना जा रहा है।

केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री अनंत कुमार ने शुक्रवार को यहां देशभर में प्रधानमंत्री भारतीय जनौषधि केंद्रों (पीएमबीजेके) की शुरुआत पर राष्ट्रीय युवा सहकारिता समाज (एनवाईसीएस) के जिला संयोजकों के लिए परिचय-कार्यक्रम का उद्घाटन किया।

देशवासियों को सस्ती दरों पर दवाइयां उपलब्ध कराने के लिए मार्च, 2017 तक देशभर में तीन हजार प्रधानमंत्री भारतीय जनौषधि केंद्र (पीएमबीजेके) खोले जाएंगे। पीएमबीजेके के अंतर्गत सभी लोगों को सस्ती दरों पर दवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

इस कार्यशाला का लक्ष्य युवाओं को शिक्षित और लामबंद करना है, ताकि वे मार्च, 2017 तक तीन हजार पीएमबीजेके खोले जाने के प्रयासों में योगदान करें।

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में केवल 40 प्रतिशत आबादी को ब्रांडेड दवाएं मिल पाती हैं, जबकि 60 प्रतिशत लोग गरीबी और अन्य कारणों से दवाओं से वंचित रह जाते हैं।

इसे देखते हुए देश में एक हजार पीएमबीजेके स्थापित करने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के भारतीय फार्मा ब्यूरो (बीपीपीआई) और एनवाईसीएस के बीच समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे। यह कार्यशाला इसी मकसद से आयोजित की गई, ताकि प्रधानमंत्री भारतीय जनौषधि परियोजना के विवरण पर चर्चा हो। इस आयोजन में देशभर के 24 राज्यों और 106 जिलों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

इस अवसर पर अनंत कुमार ने कहा कि देश में ज्यादा से ज्यादा पीएमबीजेके खोले जाने चाहिए, जिनका आधार 3ए यानी ‘ऑथेंटिसिटी, एवेलेबलिटी, अफॉर्डेबलिटी’ हो। उन्होंने बीपीपीआई और एनवाईसीएस के प्रयासों की भी सराहना की।

इस अवसर पर मंत्रालय के अधिकारी, विभिन्न जिलों से आए लगभग 170 प्रतिनिधि, बीबीपीआई अधिकारी, चिकित्सा और फार्मा संघ के प्रतिनिधि, स्वास्थ्य सेवा परियोजनाओं के प्रतिनिधि, चिकित्सा और फार्मा क्षेत्र के उद्यमी उपस्थित थे।

लगातार 7 दिन लहसुन और शहद का सेवन करने के फायदे जान दंग रह जाएगे

 

Read Also : मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी का हॉट वीडियो हुआ वायरल, देखने टूट पड़े लोग

हेल्थ डेस्क: लहसुन और शहद के बारें में तो आप अच्छी तरह जानते होगे! लहसुन का इस्तेमाल मसाले के रुप में किया जाता हैं। लेकिन आप जानते है कि इसका सेवन करने से आप कई बीमारियों से भी बच जाते हैं। यह शरीर को डिटॉक्‍स करके हर तरह के इंफेक्‍शन को भी खत्‍म करता है। साथ ही इम्यून सिस्टम को भी मजबूत करता हैं।

Read Also : वायरल विडियो: जस्‍टिन बीबर ने पैंट में ही कर दी पेशाब

Read Also : इस मशहूर होटल में पैरों से गूथा जाता था आटा, Video वायरल होने के बाद पड़ा छापा

अगर आप लगातार सात दिन शहद और लहसुन का बना पेस्ट का सेवन करेगे, तो कुछ ही दिनों में आपको सेहत संबंधी ऐसे प्रभाव नजर आएगे, कि आप देखते रह जाएगे। जानिए इसे बनाने की विधि और इसका सेवन करने के फायदों के बारें में।

सर्दी-जुकाम से दिलाए निजात
इसमें भरपूर मात्रा में ऐसे तत्व पाएं जाते हैं। इसका सेवन करने से शरीर में गर्मी आती हैं। जिसके कारण आपको सर्दी-जुकाम जैसी समस्या से निजात मिल जाता है।

Read Also : Video: नाबालिग हिंदु लड़कियों के बलात्कार और धर्म परिवर्तन का वीडियो वायरल

दिल को रखें हेल्दी
लहसुन और शदह के पेस्ट का सेवन करना आपके दिल के लिए काफी फायदेमंद हैं। इसका सेवन करने से आपके दिल की धमनियों में जमा वसा बाहर निकल जाता है। जिसके कारण ब्लड सर्कुलेशन ठीक ढंग से होने लगता हैं। जो कि दिल के लिए फायदेमंद हैं।

Read Also : सिंगर साइरस ने घर में की लक्ष्मी पूजा, दीप जलाकर हलवे का भोग लगाया, फोटो वायरल

अगली स्लाइड में पढ़े और फायदों के बारें में