मोदी एक हिजड़ा है, और अगर ऐसा नहीं है तो मेरे साथ हमबिस्तर होकर अपनी मर्दानगी साबित करे…

छत्तीसगढ़- छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में वामपंथी महिला संगठनों की नेता कामरेड कविता कृष्णन ने आज फिर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखी टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि भारत का प्रधानमंत्री अमेरिका के इशारे पर 1000 और 500 का नोट बंद कर दिया है, जिससे हमारे बस्तर में रहने वाले आदिवासी भाइयों को आज भुखमरी का सामना करना पड़ रहा है। 

उधोगपतियों का अरबों-खरबों का टैक्स माफ करने वाला यह प्रधानमंत्री देशद्रोही है गद्दार है। जो प्रधानमंत्री अपनी पत्नी का नहीं हुआ वह देश का कैसे होगा। यह देश का दुर्भाग्य है कि भारत को नरेंद्र मोदी जैसा नपुंसक प्रधानमंत्री मिला।

कविता कृष्णन ने अपने इस महिला सम्मेलन में आदिवासी महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि हम महिलाओं को फ्री सेक्स की आजादी चाहिए। हमें किसी भी पुरुष के साथ सेक्स करने की आजादी चाहिए। हम महिलाएं किसी भी मनपसंद पुरुष के साथ शारीरिक संबंध बनाकर अपने काम वासना की पूर्ति कर सकें। जब पुरुष किसी भी महिला के साथ शारीरिक संबंध बना सकता है, तो हम महिलाओं को भी अधिकार होना चाहिए, हम लोग भी किसी भी मनचाहे पुरुष के साथ शारीरिक संबंध बना सकें।

अगले पृष्ठ : कविता कृष्णन ने कहा कि….  

सुषमा स्वराज ने दिया पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर पर बड़ा बयान जिसे सुनकर छिड़ सकती है जंग!

जैसे ही बात आती है पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की तो जहाँ इस गंभीर मुद्दे को लेकर दोनों मुल्कों के बीच तनातनी हमेशा से ही रही है वहीँ दूसरी तरफ वक़्त-बेवक्त राजनितिक पार्टियाँ इस मुद्दे पर भी अपनी रोटियां सेकने को तत्पर दिखाई देती हैं|

ऐसे में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को इसी गंभीर मुद्दे पर अपनी राय रखते हुए कहा कि, “गिलगित, बाल्टिस्तान को पांचवा प्रांत बनाने के पाकिस्तान के कदम को भारत पूरी तरह से खारिज करता है|” सुषमा स्वराज ने एक बार फिर पाकिस्तान को आईना दिखाते हुए कहा कि, “भारत इस संकल्प को दोहराता है कि पीओके, गिलगित, बाल्टिस्तान समेत पूरा का पूरा कश्मीर हमारा है|”

अपनी बात को कम मगर स्पष्ट शब्दों में रखने वाली सुषमा स्वराज ने कहा कि, “कश्मीर के बारे में लोकसभा और राज्य सभा दोनों में प्रस्ताव पारित है, संसद ने प्रस्ताव पारित किया है कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके), गिलगित, बाल्टिस्तान समेत पूरा का पूरा कश्मीर हमारा है|” गिलगित, बाल्टिस्तान को पाकिस्तान द्वारा पांचवां प्रांत बनाने की खबर आई तब भारत सरकार ने इसे बिना समय गंवाए खारिज किया|

सुषमा ने कहा कि आज जिसकी सरकार है, उस पार्टी का तो नारा ही रहा है कि, “जहां हुए बलिदान मुखर्जी वो कश्मीर हमारा है, जो कश्मीर हमारा है, वो सारा का सारा है|’’ विदेश मंत्री ने कहा कि संसद का संकल्प तो है ही और हम तो स्वयं के संकल्प से भी बंधे हुए हैं| पाकिस्तान द्वारा गिलगित, बाल्टिस्तान को पांचवां प्रांत बनाने को हम अस्वीकार करते हैं|

मोदी के लिए एक हिन्दू युवक का डर भरा वीडियो, इसे देखकर अप भी रो देंगे…

आज लोग भारत में पढ़ाई करते हैं और कमाने के लिए दूसरा देश चुनते है की वहां जाकर कमाएंगे और ऐश की ज़िन्दगी जियेंगे| मतलब वही बात है जिस देश में आपने अपना पूरा बचपन बिताया और जब बात उसी देश की तरक्की में अपना योगदान देने की आई तो आप दुसरे देश में बसने चले जाते हैं| अब आप ही बताईये अगर देश का हर होनहार व्यक्ति अगर दूसरे देश कमाने चला जायेंगा तो हमारा देश कैसे दूसरे देशों से आगे निकलेगा| लोग दूसरे देश में कमाने के लिए चले तो जाते हैं लेकिन अगर फिर अगर वही देश आपके साथ कोई भेदभाव करता है तो आपको मदद के लिए अपना ही देश याद आता है|

जी हाँ हाल ही में एक शक्स का वीडियो सामने आया है जो सऊदी अरब में कमाने के लिए गया था लेकिन अब वो वहां बुरी तरह फस गया है जिसके बाद उसने मदद के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद की गुहार लगाई है|

हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले के जंड़वा गांव के रहने वाले राजेंद्र का एक वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इस वीडियो में राजेंद्र पीएम मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और केंद्रीय मंत्री वीके सिंह से मदद की गुहार लगा रहा है कि उसे बचा लिया जाए ।

दरअसल राजेंद्र सऊदी अरब में पिछले 16 महीने से फंसा हुआ है और वहां उसका वीजा और पासपोर्ट भी रख लिया गया है। वीडियो में उसने बताया है कि कुछ लोगों ने उसे वहाँ काम के लिए बुलाया था और आज जब वो अपने काम का पैसा मांगता है तो वह लोग उसे जान से मारने की धमकी देते हैं। जिसकी शिकायत राजेंद्र ने सऊदी अरब के लेबर कोर्ट में भी की थी लेकिन वहां उसकी किसी ने नहीं सुनी और उसे इंडियन एम्बेसी भेज दिया जिसके बाद वहां से भी मुझे निराशा ही हांसिल हुई है|

देखें इस शक्स का वीडियो किस तरह ये बेचारा रो-रो कर प्रधानमन्त्री से मदद की गुहार लगा रहा है…

कश्मीर में मैच से पहले बजा पाकिस्तानी राष्ट्रगान, खिलाड़ियों ने दिया सम्मान!

एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें एक कश्मीरी क्रिकेट क्लब के खिलाड़ी पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के जैसी जर्सी पहने हुए नज़र आ रहे हैं|और साथ ही मैच शुरू होने से पहले पाकिस्तान का राष्ट्रगान भी गा रहे हैं। यह मैच 2 अप्रैल को मध्य कश्मीर स्थित गंदेरबाल डिस्ट्रिक्ट के वायिल ग्राउंड पर खेला गया।

जब अलगाववादियों ने चेनानी-नाशरी टनल के उद्घाटन के लिए वहां पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोध में हड़ता किया था इस मैच का आयोजन उस समय हुआ। पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की जर्सी पहने खिलाड़ियों की टीम का नाम बाबा दरया उद दिन था, वहीं विपक्षी टीम के खिलाड़ियों ने सफ़ेद जर्सी पहन कर मैच खेला। बाबा दरया उद दिन कश्मीर के प्रसिद्ध संत रहे हैं और उनकी दरगाह गंदेरबाल जिले में स्थित है।

मैच शुरू होने से पहले कमेंटेटर ने पाकिस्तानी राष्ट्रगान बजाने को कहा| इस वीडियो में यह कहते हुए कमेंटेटर की आवाज़ सुनाई दे रही है| और जिस प्ले ग्राउंड में यह मैच खेला गया वह पुलिस स्टेशन के काफ़ी नज़दीक था| एक वेबसाइट ‘इनयूथ डॉ कॉम’ ने जब ‘बाबा दरया उद दिन’ टीम के खिलाड़ियों से संपर्क करके इस मुद्दे के बारे में जानना चाहा तो उनका जवाब बिल्कुल सीधा सा था। खिलाडियों ने कहा- ‘हम अपनी टीम को सबसे अलग दिखाना चाहते थे। साथ ही हम अपने कश्मीरी भाई बहनों को ये बताना चाहते थे कि हम कश्मीर मुद्दे को भूले नहीं हैं। इसलिए लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए हमें यह तरीका सबसे उपयुक्त लगा।’

उनमें से कुछ खिलाड़ियों ने ये भी कहा-“पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की जर्सी पहनना थोड़ा अटपटा और विवाद को बढ़ावा देने वाला लग रहा था, लेकिन जब टीम के अधिकतर खिलाड़ियों ने कोई आपत्ति नहीं दिखाई तो हमने भी उत्साह के साथ इस काम में उनका साथ दिया।”

पाकिस्तानी राष्ट्रगान को सम्मान देने पर जब खिलाड़ियों से सवाल किया गया कि उन्हें ऐसा करते डर नहीं लगा, तो उन्होंने कहा- ‘हमें डर क्यों लगेगा या हम क्यों डरेंगे जब कश्मीर दोनों देशों के बीच विवादित हिस्सा है। अल्लाह हमारे साथ है तो हमें क्यों डर लगेगा। हम किसी को नुकसान नहीं पहुंचा रहे थे बल्कि सिर्फ क्रिकेट खेल रहे थे। हम सिर्फ अपने तरीके और अपनी इच्छा के हिसाब से चीजें करना चाहते थे जिसका जुड़ाव हमारी मातृभूमि कश्मीर से हो।’  इस मैच के दर्शकों का कहना था-“इसे देखकर हमें आजादी का अहसास हो रहा था।”

देखिये वीडियो:

जब भीड़ से आई एक माँ के चिल्लाने की आवाज तो सीएम योगी ने कहा बुलाओ उसे और…

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी में लोगों को एक नई उम्मीद दिख रही है और शायद यही वजह है कि लोग अपनी सभी तरह की फरियाद लेकर बड़ी संख्या में सीएम योगी के पास पहुंच रहे हैं। फिर बात हो चाहे तीन तलाक से पीड़ित किसी महिला की या फिर कोई और बात सबको पता है कि यहाँ बात सीएम योगी के कान में गयी तो उधर झट इसका हल भी योगी जी निकाल ही देंगे|

ऐसा ही एक वाक्या हुआ हुआ शुक्रवार को| दरअसल योगी आद‍ित्यनाथ शुक्रवार को लखनऊ के कान्हा उपवन की जांच-पड़ताल करने पहुंचे थे। इस बीच एक महिला सीएम से मिलने के लिए भीड़ में चिल्ला रही थी। उस महिला की आवाज सुनकर योगी ने सिक्युरिटी से कहा, “उसे यहां बुलाओ। बच्चे को गोद में लिए महिला सीएम के पास पहुंची और उसने एक अर्जी देकर अपना दर्द बयां किया|”

महिला राजधानी के सरोजनी नगर इलाके की रहने वाली थी। उसने सीएम से कहा, ”योगी जी आप सफाई अभियान चला रहे हैं, लेकिन मेरे घर के बाहर लंबे समय से सड़क टूटी पड़ी है। गंदा पानी घरों में घुस जाता है। पैर फिसलने से बच्चों को चोट भी आ चुकी है। स्थानीय नेताओं से शिकायत के बाद भी सुनवाई नहीं हुई।”

देखिये वीडियो: 

समर सरप्राइज ऑफर में ऐसा क्या लेकर आये अंबानी जिसकी वजह से हुआ ये कमाल…

जियो अपने यूजर्स के लिए जो ऑफर लेकर आया उससे ज्यादा से ज्यादा लोग जियो के साथ जुड़े. 6 महीने के लिए जियो ने अपने यूजर्स के लिए सबकुछ फ्री कर दिया. जियो ने कम समय में ज्यादा से ज्यादा यूजर को अपने साथ जोड़ने का विश्व रिकॉर्ड भी बना लिया हैं. इस कड़ी में ही जियो ने 31 मार्च को फिर से समर सरप्राइज ऑफर लांच किया. जिसकी वजह से बचे हुए यूजर भी अपना नंबर जियो में पोर्ट करा रहे हैं.

जियो की वजह से पिछले हफ्ते मुकेश अंबानी  ने 7 दिनों के अंदर 15 हजार करोड़ रूपए कमा लिए. जिसकी वजह से मुकेश अंबानी विश्व के 24वें अमीर इंसान बन गए. इससे पहले 29 मार्च तक वो 26वें अमीर इंसान थे. ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के अनुसार 4 अप्रैल को मुकेश अंबानी की सम्पति 29.7 अरब डॉलर थी जो की इंडियन रुपये में 1.96 लाख करोड़ हो गई है.

इससे पहले मुकेश अंबानी के पास 27.4 अरब डॉलर सम्पति थी. उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट के पूर्व सीईओ स्टीव बॉमर को पीछे करके विश्व के 24वे अमीर व्यक्ति का स्थान प्राप्त किया. एक्सपर्ट की माने तो जियो की पेड सर्विसेज लांच होने के कारण जियो की इनकम तेजी से बढ़ी है. जिसके कारण रिलाइंस इंडस्ट्रीज के स्टोक्स में तेजी से उछाल आया. जियो की पेड सर्विसो में सबसे ज्यादा प्रभाव प्राइम मेम्बरशिप का रहा है. जिसके कारण जियो ने इतने कम समय में ज्यादा पैसे कमाये है.

 

अयोध्या प्रकरण पर बोले मुलायम सिंह यादव, “वहां मंदिर बने या मस्ज़िद…”

उप्र के विधानसभा चुनाव में सपा की करारी हार के बाद मुलायम सिंह यादव के दिल की बात शनिवार को जुबां पर आ ही गई। दरअसल शनिवार को एक सभा को संबोधित करते हुए मुलायम सिंह यादव ने कहा कि, “अब जितना अपमान हुआ, उतना पहले कभी नहीं हुआ। ये अपमान भी अपनों ने ही दिया। जो अपने बाप का नहीं हुआ, वो किसी का नहीं हो सकता| मोदी को ये कहने का मौका अपनों ने ही दिया और इसीलिए सपा बुरी तरह से चुनाव हार गई।”

इस मौके पर मुलायम सिंह यादव के शब्दों में राजनीतिक हार की निराशा साफ़ झलक रही थी| मौका था मुलायम सिंह यादव की अपनी कर्मभूमि मैनपुरी में पैक्सफेड के अध्यक्ष तोताराम के होटल के उद्घाटन समारोह का, जहाँ उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए ये बात रखी|

इस सभा में मुलायम सिंह यादव ने पहली बार यूपी चुनाव में करारी हार के बाद अपनी चुप्पी तोड़ी थीl उन्होंने मैनपुरी में अपने इस भाषण के दौरान अयोध्या प्रकरण का जिक्र करते हुए कहा कि, “मंदिर बने या मस्जिद, पहली ईंट मैं रखूंगा और ये बात पहले भी कह चुका हूं।” उन्होंने आगे सुप्रीम कोर्ट द्वारा सहमति के सुझाव पर कहा कि, “हमने भी सरकार में रहते हुए कड़े फैसले लिए थे। तब 16 जानें गईं थीं और 84 लोग घायल हुए थे। हमने सहमति बनाने का चार बार प्रयास कि या था मगर बात नहीं बनी। सुप्रीम कोर्ट को इस मामले में हस्तक्षेप करना होगा। कोर्ट का फैसला ही सर्वमान्य होगा|”

पीडीपी के सामने भाजपा ने घुटने टेक दिए और इससे अलगाववाद को और बल मिलेगा !

श्रीनगर के स्थानीय निवासीयों ने यह भी कहा की भाजपा का श्रीनगर से अपना प्रत्याशी खड़ा न करना बहुत दुखद है और पीडीपी के सामने भाजपा ने घुटने टेक दिए और इससे अलगाववाद को और बल मिलेगा !

श्रीनगर : हिंदु महासभा के प्रदेश संयोजक श्री चेतन शर्मा जी ने श्रीनगर लोकसभा सीट से नामांकन करने के बाद श्रीनगर में लार क्षेत्र में प्रचार किया और लोगों से मिले ! श्रीनगर के स्थानीय निवासी लोग हिंदू महासभा के नेता से स्वतः आकर मिले और क्षेत्र में आकर मिलने को बोला और उनकी समस्या सुनी और सभी का यही मत था की हिंदू महासभा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की बात करके उसे भारत में मिलाने की बात करती है तो उन्हें हिंदू महासभा को वोट देने में भी आपत्ति नही है । वहां के अधिकतर लोगों ने कहा की कश्मीर में कांग्रेस, नेशनल कांफ्रेस, पीडीपी जैसी पार्टियाँ ही अलगाववादियों से सांठ-गाँठ करके अपने प्रत्यासी जितवाकर लोकसभा और विधानसभा में भेजते हैं ! वहां के लोगों ने यह भी बताया की हमारे बच्चों के हाथों में पत्थर यही अलगाववादी देते हैं और इन अलगाववादियों के बच्चे डाक्टर या इंजिनियर बनते हैं, एक स्थानीय लड़के ने कहा की ये अलगाववादी क्यों नही अपने बच्चों को पत्थर मारने के लिए लगाते हैं !

श्रीनगर के स्थानीय निवासीयों ने यह भी कहा की भाजपा का श्रीनगर से अपना प्रत्याशी खड़ा न करना बहुत दुखद है और पीडीपी के सामने भाजपा ने घुटने टेक दिए और इससे अलगाववाद को और बल मिलेगा ! जब हिंदु महासभा के नेता श्री चेतन शर्मा ने कहा की हिंदु महासभा धारा 370 और धारा 35A के विरुद्ध है और जब ये नही होंगे तो उस दिन से जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद का दौर समाप्त होगा और उद्योग लगना प्रारम्भ हो जायेंगे तो वहां के लोगों ने कहा की इसी के कारण जम्मू-कश्मीर का निवासी अलग-थलग पड़ा हुआ है !

कश्मीर के लोगों को जब चेतन शर्मा जी ने सावरकर के सिद्धांत और हिंदू महासभा की विचारधारा से अवगत कराया तो लोगों ने कहा की हमें हिंदू महासभा से आपत्ति नही है और श्रीनगर में हिंदू महासभा का कार्यालय भी जल्द खोलने का प्रस्ताव दे दिया और वहां हिंदुराष्ट्र ध्वज को फहराने से भी उन्हें आपत्ति नही है । चेतन शर्मा ने बताया की हिंदू महासभा का हिंदु-राष्ट्र सिद्धांत सांस्कृतिक, पारंपरिक एवं वैचारिक है और तो और हिंदू महासभा को नास्तिक से भी आपत्ति नही है यदि वो कहे की भारत मेरी पुण्य एवं पितृ भूमि है !

रिपोर्ट पढ़िये: भारतीय मीडिया का ज्ञान कितना घटिया है, देश की असलियत से कितने कटे हुए हैं….

ब्लॉग : पुष्पेंद्र राणा ( यूनाइटेड हिन्दी डॉट कॉम ) :-  अवैध बूचड़खानों की बंदी का विरोध कर विपक्ष, मीडिया, महानगरों में बैठे तथाकथित बुद्धिजीवियों ने ना केवल अपनी बेवकूफी का प्रदर्शन किया है बल्कि उनका ज्ञान कितना सिमित है और महानगरो से बाहर के भारत की असलियत से कितने कटे हुए हैं इस सच्चाई के दर्शन भी करा दिए हैं।

लेकिन दुर्भाग्य यह है कि अधिकतर समर्थक भी इस मुद्दे से ठीक से परिचित नही है ?
पहली बात तो मुद्दा सिर्फ गौ हत्या का नही था ! गौ हत्या पर उत्तर प्रदेश में पहले से ही कानूनी प्रतिबन्ध है। हालांकि सपा और बसपा की सरकारों में इस कानून की धज्जियां उड़ाई गई और बड़े पैमाने पर सरकारी संरक्षण में गौहत्या की जाती रही।

लेकिन गौ हत्या से भी बड़ा मुद्दा (विशेषकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिये) भैंसों के अवैध कटान का रहा है। उदाहरण के लिये कुछ साल पहले तक मेरठ में शहर के बीचों बीच सरकारी कमेला होता था जिसे हर साल नगर निगम मामूली रकम के एवज में याकूब कुरैशी और शाहिद अख़लाक़ जैसे कसाई नेताओ को ठेके पर देता था। मेरठ शहर की रोजाना की मांस की खपत 250 भैंस की है और इसीलिए इस कमेले में कानूनी रूप से रोजाना 250-300 भैंस काटे जाने की अनुमति थी लेकिन स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इसमें रोजाना 5-7 हजार तक भैंस काटी जाती थी। इसके अलावा कई हजार मेरठ शहर के एक हिस्से के गली मुहल्लों में बने छोटे कमेलो में कटती थी। मेरठ शहर के मुस्लिम बहुल इलाकों का यह हाल है कि वहां पानी में भी खून आता है। दुर्गन्ध और बीमारियों की वजह से कई इलाको से लोग पलायन कर गए। कोर्ट ने कई सालों पहले ही इस कमेले को बंद करने और शिफ्ट करने का आदेश दिया हुआ था लेकिन उसे हटाने की इक्षाशक्ति किसी सरकार में नही थी।

सबसे बड़ी बात ये है कि ये सारा मांस गल्फ में एक्सपोर्ट होता था। लोकल सप्लाई के लिये इतने कटान की आवश्यकता नही थी ! याकूब कुरैशी और शाहिद अख़लाक़ जैसे नेता रातो-रात करोड़पति से खरबपति हो गए। बसपा की सरकार में तो इनका खुद का ही राज था। सुविधा अनुसार पार्टी भी बदल लेते थे। पैसो और सत्ता के दम पर इन्होंने मेरठ में आतंक कायम किया। सपा में आजम खान की वजह से इनकी दाल नही गली क्योंकि उसकी कसाईयो से नही बनती थी। आजम खान ने मेरठ की पीड़ित मुस्लिम जनता की गुहार पर कमेला शहर से बाहर शिफ्ट करवा दिया। हालांकि याकूब कुरैशी जैसे इतने पैसे वाले हो गए कि उन्होंने खुद अपने आधुनिक संयंत्र स्थापित कर लिए लेकिन इनमे अवैध कटान चालू रहा।

अगले पृष्ठ पर पढ़िये : बिसाहड़ा जैसे कितने काण्ड हुए

सामूहिक बलात्कार पीड़िता को ज़बरदस्ती हैवानो ने पिला दिया तेज़ाब, योगी ने खुद की मुलाक़ात और…

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. बताया जा रहा है कि बीते आठ साल से कानूनी जंग लड़ रही सामूहिक बलात्कार की पीड़िता 35 साल की एक महिला एक बार फिर से गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती है. वजह यह है कि गुरुवार को लखनऊ जा रही एक ट्रेन में दो पुरुषों ने उसे पकड़कर जबरदस्ती तेजाब पिलाया.

चलती ट्रेन में महिला को तेजाब पिलाया:

बताया जा रहा है कि अभी महिला की हालत गंभीर है, जो लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेड अस्पताल में भर्ती है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को महिला से मुलाकात करने अस्पताल पहुंचे. बताया जा रहा है कि वह आईसीयू में भर्ती है. मुख्यमंत्री ने महिला की हालत की जानकारी ली और एक लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की. साथ ही सीएम योगी ने पुलिस को जल्द से जल्द महिला के साथ दुर्व्यवहार करन वाले आक्रमणकारियों को गिरफ्तार करने का सख्त आदेश दिया.

इससे पहले इस महिला का हो चुका है गैंगरेप:

आपको बता दें कि पीड़ित महिला के साथ वर्ष 2008 में रायबरेली में सामूहिक बलात्कार किया गया था और उसके बाद बलात्कारियों द्वारा उसके पेट पर तेज़ाब फेंक दिया गया था. उस मामले में उस वक़्त तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया था. मगर अब इस घटना के बाद और जल्द ही मामले की सुनवाई शुरू होने जा रही है.