loading...
रामेश्वरम : जिस शख्स की मौत पर पूरा मुल्क रोया. उस शख्स की कब्र को 125 करोड़ का हिन्दुस्तान एक छत नही दे सका हैं. सियासत में भले ही 24 घंटे मे दिल्ली  की औरंगजेब रोड को बदल दिया गया था. लेकिन सच यह है 2500 किलोमीटर दूर रामेश्वरम में देश के सबसे लोकप्रिय पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की क्रब अभी भी कच्ची मीट्टी से ढकी हुई है. Abdul-Kalams
loading...
स्थानीय पुलीस ने एपीजे कलाम के कब्र  के ऊपर एक टीनशेड़ जरुर डाल दिया हैं, लेकीन जो वादे फातिया के दिन देश के राष्ट्रपति और पीएम के सामने हुए थे. वह अभी भी पूरे नहीं हुए हैं.वरिष्ठ पत्रकार और एयरएक्सपर्ट्स अनंत कृष्णन ने अब्दुल कलाम की क्रब को मेमोरियल बनाने के लिए justice 4 Guru kalam की मुहिम शुरु की हैं.
इंडिया सवाद ने जब इस भावनातमक मुद्दे में पड़ताल शुरु की तो मालूम हुआ कि तमिलनाडु सरकार ने रामेश्वरम में कलाम साहब की कब्र के पास  डेढ़ एकड़ जमीन तो एलाट कर दी लेकिन उस पर कोई मेमोरियल बनाने के लिए एक भी ईट नही रखी गई हैं. तामिलनाडु सरकार का कहना हैं कि मेमोरियल मोदी सरकार बनाएगी. लिहाजा फैसला दिल्ली को ही करना हैं. बहरहाल राम की नगरी रामेश्वरम मे अब मंदिरों के अलावा लोगो की भीड़ कलाम की कब्र पर भी उमड़ने लगी हैं. स्थानीय सांसद अनबर राजा का कहना है कि तामिलनाडु सरकार ने अपना काम कर दिया हैं लेकिन कब्र के चारो तरफ भव्य समाधी स्थल बनना हैं उसका निर्माण तो केन्द्र सरकार ही करेगी, याद रहे की 5 महीने पहले रामेश्वरम के पे करुंबु इलाके में पीएम मोदी खुद पॅंहुचे थे. और तब उस कब्र पर भव्य मेमोरियल बनाने का फैसला भी किया गया था. लेकिन 5 महीने गुजर जाने के बाद भी सरकार ने रामेश्वरम में कोई काम शुरु नही कराया हैं.जिसे जान कर कलाम चाचा के करोडो चाहने वालो तकलीफ जरुर होगी.
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
स्रोतइंडिया सवाद
शेयर करें