loading...

01

loading...

मोतिहारी (बिहार)। आज तक आपने दुल्हन बनने जा रही लड़की को सात फेरे लेने के पूर्व मेंहदी या अन्य रस्मों को निभाते देखा और सुना होगा, लेकिन बिहार के पूर्वी चंपारण जिला मुख्यालय यानी मोतिहारी शहर से 10 किलोमीटर दूर तुरकौलिया के मझार गांव की एक लड़की ने दुल्हन बनने के पहले 1000 से ज्यादा पौधे लगाए।

बेटी के विवाह को लेकर मझार गांव निवासी जितेंद्र सिंह के घर पर ऐसे भी चहल-पहल है, लेकिन उनकी पुत्री किरण के शादी के पूर्व पौधरोपण के संकल्प को पूरा करने के लिए गांव के अलावा आसपास के गांवों के भी कई लोग जुटे हैं। किरण की शादी गुरुवार की शाम होनी है, मगर हाथों में मेंहदी लगाने के बाद सुबह से ही किरण पौधे लगाने के लिए गड्डे खोदे और विभिन्न स्थानों पर पौधरोपण किया। इस कार्य में गांव की अन्य लड़कियों और महिलाओं ने भी उसकी मदद की।

पटना स्थित राज्य स्वास्थ्य समिति में काम करने वाली किरण गांव के स्कूल परिसर समेत विभिन्न जगहों पर पौधरोपण किया। इसके बाद शादी की अन्य रस्में शुरू हुईं। किरण कहती हैं, “सूखते पेड़ों व जंगल को बचाना हम सबका कर्तव्य है। पर्यावरण सुरक्षित रहेगा, तभी हम भी ठीक से रह पाएंगे।”

1 of 3
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें