loading...

kadhi

loading...

नई दिल्ली। कढ़ी पत्ता औषधीय गुणों से भरपूर है, इसीलिए इसें प्रमुख मसालों में गिना जाता है। कढ़ी पत्ता भोजन में फ्लेवर बढ़ाने के साथ-साथ कई तरह से हेल्थ के लिए फायदेमंद है। 100 ग्राम कढ़ी पत्तों में 6 फीसदी प्रोटीन, 16 फीसदी कार्बोहाइड्रेट और 7 फीसदी मिनरल होते हैं। रोजाना खाने में कढ़ी का इस्तेमाल करने पर स्वास्थ्य संबंधी कई परेशानियों से दूर रहा जा सकता है।

डायबिटीज में राहत
तीन महीन तक रोज सुबह खाली पेट 5 से 6 कढ़ी पत्ते खाएं। कढ़ी पत्ते में एंटीडायबिटिक एजेंट और फाइबर शरीर में इंसुलिन की मात्रा कंट्राल करके ब्लड में शुगर लेवल को कम करता है।

डायरिया से राहत
जरा से गढ़ी पत्तों का पेस्ट बनाकर छाछ में मिलाकर दिन में 2 से 3 बार पीएं। कढ़ी पत्तों में कार्बाजोल एल्कालॉयड्स होते हैं जो पेट लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। कढ़ी पत्ता पेट से पित्त भी दूर करने में सक्षम है।

समुद्री भोजन घटाए अल्जाइमर का खतरा

सीने और नाक में जमा कफ करता है दूर
एक चम्मच कढ़ी पत्ते पाउडर को एक चम्मच शहद में मिलाकर खाएं। ऐसा दिन में 2 बार करें। कढ़ी पत्ते में विटामिन सी और ए के साथ एंटी-बैक्टीरियल और एंटी फंगस एजेंट होते हैं। ये नाक और सीने में जमे कफ को बाहर निकालने में सक्षम होते हैं।

लीवर को सेफ रखेगा
कढ़ी पत्ते लीवर को ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से बचाता है।
को गर्म करके इसमें एक कप कढ़ी पत्ते का जूस, जरा सी चीनी और पिसी हुई काली मिर्च मिलाकर धीमी आंच पर गर्म करें। उबाल आने के बाद इसें आंच से उतारकर ठंडा करें। इसमें से रोज एक चम्मच सेवन करें।

एनीमिया रोगियों के लिए काफी उपयोगी
रोज सुबह खाली पेट 2 कढ़ी पत्तों के साथ एक खजूर खाएं।
कड़ी पत्तें फॉलिक एसिड काफी मात्रा में होता है जो एनीमिया में राहत देने वाला होता है।

पीरियड्स के दौरान दर्द से राहत
रोजाना सुबह-शाम एक-एक चम्मच कढ़ी पत्ते का पाउडर गुनगुने पानी के साथ लेने से पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से छुटकारा मिलता है।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें