loading...

atariya

loading...

क्या आपने “हमरी अटरिया पे आजा रे संवरिया” वाला गाणा देखा है ! तनिक देखा-देखि होई जाए एक बार। ये गाना एक दादरा है। और इस गाने की अब तक जो सबसे मशहूर गायकी रही है वो है बेगम अख्तर साहिबा की। लोगों ने उनको खूब सुना और खूब तारीफ भी की है। और जब बेगम इसे गा रही होती हैं तब ये गाना एकदम से कलेजे में छेद करता हुआ निकलता है। कभी वक़्त मिले तो यूट्यूब पर जाईके बेगम अख़्तर की आवाज़ में सुन लीजिएगा फिर हमरा बताइएगा। लेकिन इसके बाद इस गाने के कई और भी रंग देखने को मिले।

लेकिन जब इसे फिल्मों में इस्तेमाल किया जाने लगा। तो इस गाने को खूब ही पब्लिसिटी मिली। पब्लिसिटी मतलब ऐसा नहीं है कि पहले लोग इस गाने को पसंद नहीं कर रहे थे और अब करने लगे हैं! उकरा लोग पहले भी पसंद करते रहे हैं लेकिन हमारी पीढ़ी तक इस गाने को पहुंचाने में फिल्मों ने अच्छा काम किया।

इसी कड़ी में जो सबसे बेहतरीन लगा, बेगम अख़्तर साहिबा के बाद तो ये था रेखा भारद्वाज जी का गाया। डेढ़ इश्किया फिल्म में । भले ही इ में वो वाली बात, जो गाने की अपनी आत्मा होती है वो ना रही हो। लेकिन रेखा भारद्वाज के आवाज़ में जो थोड़ी खनक है ना, वो आपको इस गाने के तरफ खींच लाती है।

अच्छा यहीं एक और बात जान लें। डेढ़ इश्किया फिल्म में जिस गाने का इस्तेमाल किया गया। उसकी लिरिक्स गुलज़ार साहब ने तैयार की थी। जो कि ओरिजिनल लिरिक्स से थोड़ा अलग है। उसे उन्होंने अपने अंदाज़ में बयां किया है। खैर ये तो बात हुई, गाने की।

अब आते हैं इस वीडियो पर…. पहले आप इस वीडियो को देखिए….  लेकिन, इसलिए मत देखिएगा की लड़कियां ऐसे हिल-हिल कर नाच रही हैं या बड़ा मजेदार लग रहा है। माफ़ करें, उससे बेहतर है आप नहीं देखें।

अगले पन्ने में पेश-ए-ख़िदमत है, हमरी अटरिया पे… 

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें