loading...

बतौर डायरेक्टर शास्त्री का टर्म खत्म, ये एक्स क्रिकेटर बनना चाहते हैं कोच

loading...
मुंबई. टीम इंडिया के डायरेक्टर रवि शास्त्री का बीसीसीआई से कॉन्ट्रैक्ट खत्म हो गया है। अगर सचिन तेंडुलकर, वीवीएस लक्ष्मण और सौरव गांगुली वाली क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी यानी सीएसी शास्त्री का कॉन्ट्रैक्ट रिन्यू करती है तो वे बने रह सकते हैं। दूसरी ओर, शेन वॉर्न ने टीम इंडिया का फुल टाइम कोच बनने की इच्छा जाहिर की है।

टी 20 वर्ल्ड कप तक ही था शास्त्री का कॉन्ट्रैक्ट… 

– बीसीसीआई सेक्रेटरी अनुराग ठाकुर ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। – टीम इंडिया सेमीफाइनल में वेस्ट इंडीज के हाथों हारकर इस टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी है।

क्या कहा ठाकुर ने?

– अनुराग ने कहा, “अब हम एक फुल टाइम कोच की तलाश में हैं। इस बारे में फैसला सीएसी को करना है। अब टीम डायरेक्टर की जगह सिर्फ फुल टाइम कोच ही रहेगा।”
– ठाकुर से जब ये पूछा गया कि टीम इंडिया के कुछ सीनियर प्लेयर शास्त्री को एक और मौका दिए जाने के फेवर में हैं?

– ठाकुर ने कहा कि इस बारे में सीएसी फैसला करेगी लेकिन ये तय है कि हम फुल टाइम कोच चाहते हैं।
– उन्होंने ये भी कहा कि इस बारे में जो नाम आए हैं उन्हें सीएसी ही शॉर्ट लिस्ट करेगी।

– सीएसी की मीटिंग 3 अप्रैल को हो सकती है।

शास्त्री कब बने थे डायरेक्टर?

– 2014 में इंग्लैंड से 1-3 से सीरीज हारने के बाद शास्त्री टीम डायरेक्टर बने थे। इसके बाद भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज जीती। लेकिन ऑस्ट्रेलिया से टेस्ट सीरीज हार गई।

– शास्त्री ने टीम को वर्ल्ड कप 2015 के सेमी फाइनल तक पहुंचाया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्हीं के देश में टी 20 सीरीज में क्लीन स्वीप दिलाया और साउथ अफ्रीका के खिलाफ 3-0 से टेस्ट सीरीज जीती।

– बांग्लादेश में वनडे सीरीज हम हार गए थे।

शेन वॉर्न बनना चाहते हैं कोच

– ऑस्ट्रेलिया के लीजेंड लेग स्पिनर शेन वॉर्न ने शुक्रवार को कहा कि अगर उन्हें मौका दिया जाता है तो वो टीम इंडिया के कोच जरूर बनना चाहेंगे।
– वॉर्न ने एक इंटरव्यू में कहा- टीम इंडिया टैलेंटेड है। एक अरब लोगों की उम्मीदों का प्रेशर उन पर रहता है। गलती करेंगे तो नतीजा भी भुगतना होगा। मुझे मौका मिला तो मैं कोच बनना पसंद करूंगा।

और कौन सी अहम बातें कहीं वॉर्न ने?

– “मैंने जिंदगी में किसी चीज के लिए ना नहीं कहा। फिर चाहे टीम इंडिया को कोचिंग देने की बात हो या आईपीएल टीम को। मैं क्रिकेट से जुड़ा रहना चाहता हूं।”
– “सेमीफाइनल में टीम इंडिया ने बेसिक्स सही नहीं रखे। कुछ नो बॉल्स कीं। मैं टीम की हार से इसलिए दुखी था क्योंकि मैच के पहले ही मेरे लिए यही टीम फेवरेट थी।”
– “टीम इंडिया को कोहली पर ज्यादा डिपेंड नहीं करना चाहिए था। वेस्ट इंडीज के खिलाफ भी उन्होंने शानदार बैटिंग की लेकिन बॉलिंग खराब रही। ओस ने स्पिनर्स को परेशान किया।”

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें