पीडीपी के सामने भाजपा ने घुटने टेक दिए और इससे अलगाववाद को और बल मिलेगा !

श्रीनगर के स्थानीय निवासीयों ने यह भी कहा की भाजपा का श्रीनगर से अपना प्रत्याशी खड़ा न करना बहुत दुखद है और पीडीपी के सामने भाजपा ने घुटने टेक दिए और इससे अलगाववाद को और बल मिलेगा !

श्रीनगर : हिंदु महासभा के प्रदेश संयोजक श्री चेतन शर्मा जी ने श्रीनगर लोकसभा सीट से नामांकन करने के बाद श्रीनगर में लार क्षेत्र में प्रचार किया और लोगों से मिले ! श्रीनगर के स्थानीय निवासी लोग हिंदू महासभा के नेता से स्वतः आकर मिले और क्षेत्र में आकर मिलने को बोला और उनकी समस्या सुनी और सभी का यही मत था की हिंदू महासभा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की बात करके उसे भारत में मिलाने की बात करती है तो उन्हें हिंदू महासभा को वोट देने में भी आपत्ति नही है । वहां के अधिकतर लोगों ने कहा की कश्मीर में कांग्रेस, नेशनल कांफ्रेस, पीडीपी जैसी पार्टियाँ ही अलगाववादियों से सांठ-गाँठ करके अपने प्रत्यासी जितवाकर लोकसभा और विधानसभा में भेजते हैं ! वहां के लोगों ने यह भी बताया की हमारे बच्चों के हाथों में पत्थर यही अलगाववादी देते हैं और इन अलगाववादियों के बच्चे डाक्टर या इंजिनियर बनते हैं, एक स्थानीय लड़के ने कहा की ये अलगाववादी क्यों नही अपने बच्चों को पत्थर मारने के लिए लगाते हैं !

श्रीनगर के स्थानीय निवासीयों ने यह भी कहा की भाजपा का श्रीनगर से अपना प्रत्याशी खड़ा न करना बहुत दुखद है और पीडीपी के सामने भाजपा ने घुटने टेक दिए और इससे अलगाववाद को और बल मिलेगा ! जब हिंदु महासभा के नेता श्री चेतन शर्मा ने कहा की हिंदु महासभा धारा 370 और धारा 35A के विरुद्ध है और जब ये नही होंगे तो उस दिन से जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद का दौर समाप्त होगा और उद्योग लगना प्रारम्भ हो जायेंगे तो वहां के लोगों ने कहा की इसी के कारण जम्मू-कश्मीर का निवासी अलग-थलग पड़ा हुआ है !

कश्मीर के लोगों को जब चेतन शर्मा जी ने सावरकर के सिद्धांत और हिंदू महासभा की विचारधारा से अवगत कराया तो लोगों ने कहा की हमें हिंदू महासभा से आपत्ति नही है और श्रीनगर में हिंदू महासभा का कार्यालय भी जल्द खोलने का प्रस्ताव दे दिया और वहां हिंदुराष्ट्र ध्वज को फहराने से भी उन्हें आपत्ति नही है । चेतन शर्मा ने बताया की हिंदू महासभा का हिंदु-राष्ट्र सिद्धांत सांस्कृतिक, पारंपरिक एवं वैचारिक है और तो और हिंदू महासभा को नास्तिक से भी आपत्ति नही है यदि वो कहे की भारत मेरी पुण्य एवं पितृ भूमि है !