loading...

तिरुवनंतपुरम : भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह ने पार्टी नेताओं से केरल में ज्‍यादा से ज्‍यादा हिंदू संगठनों को पार्टी से जोड़ने को कहा है। भाजपा सूत्रों ने बताया, ‘अलुवा में पार्टी मीटिंग में शाह ने नेताओं को केरल में सक्रिय 70 हिंदू संगठनों को अपने साथ लेने के निर्देश दिए। सूत्रों ने बताया,’ राष्‍ट्रीय नेतृत्‍व की नैयर और एझवा समुदायों के साथ ही अन्‍य हिंदू समुदायों पर भी नजर है। छोटे दल और उनके नेताओं को भी पार्टी से जोड़ने की जरुरत है चाहे उनके पास सौ वोट ही हो। केन्‍द्रीय नेतृत्‍व ने यही रणनीति सुझाई है।’  Amit-शाह ने कोट्टायम में भी पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित किया। उन्‍होंने केरल भाजपा अध्‍यक्ष कुमानम राजशेखरन की ‘केरल लिबरेशन यात्रा’ के दौरान कार्यकर्ताओं से कहा कि केवल भाजपा ही केरल का विकास कर सकती है। आने वाले चुनावों में केरल की जनता बदलाव को चुनेगी। उन्‍होंने कहा कि वामपंथियों और यूडीएफ के शासन के चलते केरल हिंसा का घर बन गया है। भाजपा की सबको न्‍याय दिला सकती है।

सूत्रों का कहना है कि भाजपा 140 में से 80 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। बाकी की सीटों को साथी दलों के लिए छोड़ा जाएगा। भाजपा वरिष्‍ठ नेताओं को मैदान में उतारेगी। इनके साथ ही पूर्व इसरो प्रमुख के राधाकृष्‍णन और एक्‍टर सुरेश गोपी जैसे निर्दलीय उम्‍मीदवारों को भी भाजपा अपने साथ ही मान रही है। सूत्रों के अनुसार भाजपा तिरुवनंतपुरम में केवल हिंदू मतों और केन्‍द्रीय केरल में हिंदू-क्रिश्चियन मतों पर जोर लगा रही है।

यह भी पढे > हिन्दू क्रांति दल के सरीन लखविंदर के कारण शरणार्थी शिविर से भारत लौटी गुरप्रीत

loading...

यह भी पढे > हिन्दू दंपति ने शुरू की विश्व की पहली मुस्लिम एयरलाइंस, जो इस्लामिक नियमों के अनुसार चलेगी

यह भी पढे > महाराष्ट्र में 3 मुस्लिम युवकों ने आग लगाने से पहले पूछा हिन्दू लड़के का धर्म और जला दिया

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें