loading...

ambedkar

मऊ। उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने में पूर्वांचल बेहद अहम रोल निभाता आया है। पूर्वांचल की सीटें सभी दलों के लिए बेहद अहम होती हैं। पूर्वांचल की सीटें जीतने के लिए ही सपा ने माफिया डॉन मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल का सपा में विलय करने का फैसला किया था, जिसे बाद में सीएम अखिलेश यादव के दवाब में निरस्त कर दिया गया। अब भाजपा पूर्वांचल में बड़ा दांव खेलने जा रही हैं।

नौ जुलाई को मऊ जिले के रेलवे मैदान में भारतीय समाज पार्टी की ओर से आयोजित अति पिछड़ा अति दलित महापंचायत में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित साह का आगमन हो रहा है। भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर की मानें तो इस कार्यक्रम में भाजपा और भासपा के बीच गठबंधन होगा। 

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

शेयर करें