loading...

1st सैलरी थी 1000 रु, अब हैं एशिया के सबसे अमीर इंसान

loading...

एजुकेशन डेस्क। अलीबाबा दुनिया की बड़ी ई-कॉमर्स कंपनियों में एक है। कंपनी के फाउंडर जैक मा ने अपनी कड़ी मेहनत के चलते इसे इस मुकाम पर पहुंचाया है। हाल ही में जैक मा एशिया के सबसे अमीर आदमी बने हैं। 51 साल के हो चुके जैक प्राइमरी क्लास में ही दो बार फेल हो गए थे, लेकिन इस नाकामी को उन्होंने अपनी कमजोर नहीं बनने दिया और आज इस जगह पर खड़े हैं।

ऐसी है सफलता की कहानी … जैक की पहली जॉब यूनिवर्सिटी में इंग्लिश पढ़ाने की थी। वो करीब 500 स्टूडेंट्स को पढ़ाते थे। इसके लिए उन्हें 100 रॅन्मिन्बी यानी लगभग 1000 रुपए मिलते थे। करीब 5 साल तक यूनिवर्सिटी में पढ़ाने के बाद उन्होंने जॉब छोड़ दी।

5वीं और 8वीं में हुए थे लगातार फेल : स्कूल में जैक पांचवीं (प्राइमरी) क्लास में दो बार और आठवीं क्लास तक आते-आते तीन बार फेल हुए थे। उन्हें अमेरिका की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में एडमिशन देने से मना कर दिया गया था। वे कई नौकरियों में रिजेक्ट भी किए जा चुके थे। उन्हें एक समय केएफसी में भी नौकरी नहीं मिल पाई थी, लेकिन आज उनकी कंपनी की नेट इनकम 25,166 करोड़ रुपए तक पहुंच गई है।

आगे की स्लाइड्स पर पढ़िए जैक मा की लाइफ से जुड़े अन्य फैक्ट्स…

1 of 6
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें