loading...
  • ओमेगी फैटी थ्री एसिड से भरपूर होते हैं अलसी के बीज।flaxseed-300x450
    loading...
  • अलसी के बीज रखते हैं र‍क्‍तचाप को नियंत्रित।
  • किसी विशेषज्ञ की सलाह से ही करें सेवन।
  • डायबिटीज और हृदय रोग में भी लाभकारी।
  • अलसी हमारी रोजमर्रा की जिंदगी को आसान बनाने में अहम किरदार निभाती है। इसके छोटे से बीजों में सेहत के लिए फायदेमंद हजारों गुण होते हैं। पेट, दिल और रक्‍त आदि सभी के सुचारू रूप से काम करने में अलसी बेहद मददगार होती है। आइए जानते हैं अलसी किन-किन तकलीफों से आपको बचा सकती है।अलसी वास्‍तव में गुणों की खान है। यह बात दीगर हैं कि लोग इसके प्रति अधिक सजग नहीं होते। अलसी का नियमित सेवन हमें कई प्रकार के रोगों से छुटकारा दिला सकता है। अलसी में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है, जो हमें कई रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है। ओमेगा 3 हमारे शरीर के अंदर नहीं बनता इसे भोजन द्वारा ही ग्रहण किया जा सकता है।

    शाकाहारियों के लिए अलसी ओमेगा फैटी थ्री एसिड का इससे अच्‍छा और कोई स्रोत नहीं है। अच्छा इसका कोई और स्रोत नहीं है। माँसाहारियों को तो यह मछली से मिल जाता है। अगर आप स्वयं को निरोग और चुस्तदुरुस्त रखना चाहते हैं, तो रोज कम से कम एक दो चम्मच अलसी को अपने आहार में शामिल करिए।

    अलसी के फायदे

    1. अलसी शरीर को ऊर्जा व स्फूर्ति प्रदान करती है।
    2. कैंसररोधी हार्मोन्स की सक्रियता बढ़ाती है।
    3. रक्त में शर्करा तथा कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करती है।
    4. जोड़ों के दर्द में राहत दिलाती है।
    5. पेट साफ रखने का घरेलू व आसान नुस्खा है।
    6. हृदय संबंधी रोगों के खतरे को कम करती है।
    7. हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल करती है।
    8. त्वचा को स्वस्थ रखता है एवं सूखापन दूर कर एग्जिमा आदि से बचाती है।
    9. यह शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रोल को बढ़ाती है और खराब कोलेस्ट्रोल को कम करती है।
    10. इसका नियमित सेवन रजोनिवृत्ति संबंधी परेशानियां दूर करता है।
    11. यकृत को स्वस्थ रखती है।

    बीमारी के अनुसार अलसी का सेवन

    1. खांसी में अलसी के बीज का पाउडर बनाकर उसकी चाय पीने से लाभ होता है। इसका सेवन दिन में दो तीन बार करें।
    2. एक चम्मच अलसी पाउडर को आधा गिलास पानी में 12 घंटे तक भिगोकर रखें। दिन में दो बार इसका सेवन करें। पीने से पहले इसे छान लें।
    3. डायबीटिज के मरीज को 25 ग्राम अलसी खाना चाहिए।  उन्हें पीसी अलसी को आटे में मिलाकर रोटी बनाकर खाना चाहिए।
    4. कैंसर रोगियों को 3 चम्मच अलसी का तेल पनीर में मिलाकर उसमें सूखे मेवे मिलाकर देने चाहिए।
    5. अलसी सेवन के दौरान खूब पानी पीना चाहिए। इसमें अधिक फाइबर होता है, जिससे प्यास ज्यादा लगती है।
    6. अगर आप स्वस्थ हैं तो व्यक्ति को रोज सुबह-शाम एक-एक चम्मच अलसी का पाउडर पानी के साथ ,सब्जी, दाल या सलाद में मिलाकर लें।

    अलसी का तेल भी है गुणकारी

    अलसी का तेल भी गुणों से भरपूर है। अगर त्वचा जल जाये, तो अलसी का तेल लगाने से दर्द व जलन से राहत मिलती है। इसमें विटामिन ई होता है। इसका कुष्ठ रोगियों को सेवन करना चाहिए। त्वचा पर लाभ होगा।

    कुछ लोगों का मानना है कि अलसी गर्म होती है इसलिए गर्मी के मौसम में इसका सेवन नहीं करना चाहिए। लेकिन, इस पर मतांतर है। कुछ लोगों का मानना है कि अलसी का सेवन किसी भी मौसम में किया जा सकता है। जबकि कुछ ऐसा नहीं सोचते।

    हालांकि अलसी में कई गुण होते हैं और इसका सेवन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होता है, फिर भी आपको चाहिए कि किसी विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें। वरना कई बार असंतुलित मात्रा आपकी सेहत के लिए कुछ परेशानियां भी पैदा कर सकती हैं।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें