loading...

share-kidney-failure

[sam id=”2″ codes=”true”]

मुंबई। महाराष्ट्र के अकोला में पुलिस ने एक अंतरराष्ट्रीय किडनी रैकेट का भंडाफोड़ किया है और इस सिलसिले में एक साहूकार की गिरफ्तारी ने पूरे मामले को और गंभीर बना दिया है।

अकोला के इस साहूकार ने एक मजदूर को 20 हजार रुपए बतौर कर्ज दिए और जब वह रकम चुकाने में नाकाम रहा तो उसे किडनी बेचने का रास्ता दिखा दिया। पुलिस उन सब लोगों से पूछताछ कर रही है जो एजेंट और साहूकार के संपर्क में थे। 
मामले में उन अस्पतालों की भी जांच की जाएगी, जिन्होंने पीडि़त के शुरुआती परीक्षण किए थे। साहूकार ने एक एजेंट के साथ मिलकर इस पूरे कारनामे को अंजाम दिया था और अब उसका दिखाया यह रास्ता पड़ोसी मुल्क श्रीलंका तक पहुंच चुका है। 
पुलिस ने अब तक इस केस में साहूकार आनंद जाधव और उसके एजेंट देवेंद्र को गिरफ्तार किया है। शुरुआती पूछताछ से पता चला है कि इन दोनों ने मिलकर दो और मजदूरों को श्रीलंका भेजा था। पुलिस को शक है कि रैकेट के तार पूरे विदर्भ में फैले हो सकते हैं।
हजारों किसानों की खुदकुशी के केंद्र विदर्भ में गिरोह के फलने-फूलने की तमाम वजहें मौजूद हैं। लगातार खराब होती फसलों की वजह से कर्ज में डूबे किसानों और मजदूरों को आसानी से निशाना बनाया जा सकता है।

 

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

शेयर करें