loading...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब से 500 और 1000 के नोट बैन किये है तब से अधिकतर नेताओं को सांप सूंघ गया है. प्रधानमंत्री के इस फैसले के विरोध में सर्वप्रथम बंगाल की “गरीब” दीदी उतरी और उन्होंने ट्वीट करके इस फैसले को तुरंत वापस लेने को कहा. विज्ञापन प्रभारी और पार्ट टाइम दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल तो जैसे ममता बनर्जी के ट्वीट का ही इंतज़ार कर रहे थे उन्होंने फटाफट अपने अकाउंट से इसे रिट्वीट कर दिया.

121

loading...

हालांकि नोट बैन की घोषणा के काफी समय तक उन्होंने कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी थी. हो सकता है नोट गिनने में व्यस्त हों जैसा की उन्ही की पार्टी के पूर्व नेता अश्वनी उपाध्याय ने ट्वीट करके उनपर आरोप लगाया की उन्होंने दिल्ली में शराब की नयी दुकानें खुलवा के हवाला में पैसा लिया है. खैर जो भी हो अरविन्द केजरीवाल ने अगले दिन अपने फेसबुक पेज से लाइव विडियो में नरेन्द्र मोदी के इस कदम को गलत साबित करने के लिए कई तर्क दिए हालांकि उनके इस विडियो पर उनके ही पार्टी समर्थको द्वारा कमेंट करके अरविन्द केजरीवाल का विरोध भी किया गया.

केजरीवाल ने कहा की बीजेपी ने तो पंजाब और यूपी चुनावों की तैयारी कर ली है लेकिन उनके इस कदम से आम आदमी परेशान है.. मतलब बीजेपी के इस कदम से आम आदमी पार्टी को काफी क्षति हुई है जिससे उनका चुनावी “बैलेंस” बिगड़ गया है इसलिए शायद केजरीवाल जी परेशान है ..

Next देखिये दिल्ली में बैंक लाइन में खड़े एक शक्श से जब सवाल पूछा गया तो क्या जबाव दिया ..

Click on Next Button For Next Slide

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें