loading...

पूरे देश में गोहत्या पर प्रतिबंध और गोमाता को राष्ट्र माता का दर्जा दिलाने को 28 फरवरी को संत गोपाल मणि के समर्थन में  दिल्ली के रामलीला मैदान कूच करने को लेकर गांव दौलताबाद में हुई बैठक, हजारों की संख्या में गुड़गांव से दिल्ली कूच करने का आह्वान  44242

loading...
गुड़गांव। सदियों से गाय स्वावलंबी भारत की आर्थिक प्रगति की केंद्र में रही है। देश में गरीबी दूर हटाने, रोगों और स्वस्थ-मजबूत भारत बनाने, प्रदूषण को दूर कर जलवायु को शुद्ध करने, धरती की उर्वरता को बनाए रखने आदि के लिए गौ संरक्षण व गौपालन बहुत जरूरी है। इन उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए यह भी जरूरी है कि गौमाता को राष्ट्र माता का दर्जा प्रदान किया जाए। भारत जैसे सुसंस्कृत, सुसभ्य, मानवता का पोषक, सर्वधर्मसमभाव वाले देश में प्रतीक बड़ा संदेश देता रहता है। और हमारी मांग है कि देश में गोहत्या पूर्ण प्रतिबंध के साथ ही गोमाता को राष्ट्र माता का दर्जा प्रदान किया जाए। इसके लिए देश भर से गौमाता के पुजारी, समर्थक दिल्ली में 28 फरवरी को गौसेवा में अपना जीवन समर्पित करने वाले संत श्रीगोपाल मणिजी के आह्वान पर रामलीला मैदान में जुटेंगे। सरकार के सामने लोगों की इच्छा और विचारों को सामने रखेंगे। इस संबंध में रविवार को गांव दौलताबाद में गौभक्तों, गौरक्षा दल के सदस्यों, गांव के मौजिज़ लोगों ने बैठक कर गौमाता के संरक्षण और उनके सम्मान को लेकर अपने विचार रखें तथा आह्वान किया कि बड़ी संख्या में 28 फरवरी को दिल्ली के लिए प्रस्थान करें।

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें