पुरुष आंतकियों को जन्नत में मिलती हैं 72 हूरें, तो महिलाओं को 72 लोंडे क्यों नहीं ?

ट्वीट में लिखा- “4 इस्लामिक आतंकियों को बांग्लादेश सेना ने कल (सोमवार) मार गिराया। बाकी के आतंकी बांग्लादेश से बाहर भागने की कोशिश करेंगे। बीएसएफ हाई अलर्ट पर है।

बांग्लादेश के सिलहट में इस्लामिक स्टेट के आतंकियों ने फिर हमला किया। बीते 5 दिनों से सिलहट स्थित पांच मंजिला इमारत पर कब्जा जमा लिया था और लोगों को बंधक बना लिया था। आंतकी इमारत के अंदर से ही फायरिंग कर रहे थे। आतंकियों के खात्मे के लिए बांग्लादेश सेना ने ऑपरेशन ‘ट्वाईलाईट’ चलाया। आईएस द्वारा किए गए हमले को लेकर बांग्लादेशी लेखिका तसलीमा नसरीन ने मंगलवार को एक के बाद एक दो ट्वीट किए। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- “4 इस्लामिक आतंकियों को बांग्लादेश सेना ने कल (सोमवार) मार गिराया। बाकी के आतंकी बांग्लादेश से बाहर भागने की कोशिश करेंगे। बीएसएफ हाई अलर्ट पर है।” तसलीमा ने अपने अगले ट्वीट में लिखा- “4 बांग्लादेशी इस्लामिक आतंकियों में 3 पुरुष और 1 महिला थी। हर पुरुष आतंकी को 72 हूरें (72 Virgins). महिलाओं को कुछ नहीं मिलता है। वह भी 72 वर्जिन-जेलमैन (नौकर/दास) की हकदार हैं।”

सेना ने इमारत में फंसे 50 लोगों से ज्यादा लोगों को सुरक्षित बचाया जबकि अभी भी काफी लोग इमारत में फंसे हैं। जिन्हें बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है। आतंकियों द्वारा सोमवार को रुक-रुपकर फायरिंग की जाने की वजह से प्रशासन ने इलाके में बिजली काट दी थी और आसपास की सभी दुकानों को अगले आदेश तक के लिए बंद करने को कहा।

इससे पहले बीते रविवार को आतंकियों ने दो धमाके किए। इन बम धमाकों में 6 लोगों की मौत हो गई जबकि करीब 50 लोग बुरी तरह से घायल हो गए। ये धमाके आतंकियों द्वारा कब्जा जमाए इमारत से 500 मीटर की दूरी पर किए गए। आतंकियों ने पहला धमाका रविवार सुबह भीड़ वाले इलाकों को निशाना बनाते हुए करीब सात बजे किया। हालांकि सुरक्षा एजेंसियां अभी तक ये पता लगाने में नाकाम रहीं है कि इमारत में छिपे आंतकियों की संख्या कितनी है या उनके पास किस तरह के हथियार हैं। इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली। इन विस्फोटों में रैपिड एक्शन बटालियन (आरएबी) के इंटेलिजेंस प्रमुख भी शामिल हैं।

डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम नरेंद्र मोदी को किया फोन, चुनावों में मिली जीत पर दी बधाई

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के चुनावों में मिली जीत के लिए फोन करके बधाई दी है।

देश के पांच राज्यों में से बीजेपी ने दो राज्यों में पूर्ण बहुमत से सरकार बनाई है जबकि असम और मणिपुर में कांग्रेस को छोड़ दूसरी पार्टियों के समर्थन से सरकार बनाई है।

बता दें कि इससे पहले भी डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी को फोन कर दोस्ती की मिसाल पेश की थी। आपको बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति का पदभार संभालने के चार दिन बाद डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ फोन पर हुई अपनी बातचीत में भारत को एक ‘सच्चा दोस्त और साझेदार’ बताया था।

बातचीत में दोनों नेताओं ने इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में ‘कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहने’ और रक्षा एवं आर्थिक संबंध को मजबूत करने का संकल्प लिया था।

24 जनवरी रात को दोनों नेताओं के बीच टेलीफोन पर हुई अपनी बातचीत में एक दूसरे को अपने-अपने देश आने का न्यौता भी दिया। व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत में राष्ट्रपति ट्रंप ने इस बात पर जोर दिया कि भारत को अमेरिका एक सच्चा दोस्त और दुनियाभर की चुनौतियों से निपटने में एक सहयोगी मानता है।’

राष्ट्रपति ट्रंप और प्रधानमंत्री मोदी ने संकल्प लिया कि इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में अमेरिका और भारत कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहेंगे।

पीडीपी के सामने भाजपा ने घुटने टेक दिए और इससे अलगाववाद को और बल मिलेगा !

श्रीनगर के स्थानीय निवासीयों ने यह भी कहा की भाजपा का श्रीनगर से अपना प्रत्याशी खड़ा न करना बहुत दुखद है और पीडीपी के सामने भाजपा ने घुटने टेक दिए और इससे अलगाववाद को और बल मिलेगा !

श्रीनगर : हिंदु महासभा के प्रदेश संयोजक श्री चेतन शर्मा जी ने श्रीनगर लोकसभा सीट से नामांकन करने के बाद श्रीनगर में लार क्षेत्र में प्रचार किया और लोगों से मिले ! श्रीनगर के स्थानीय निवासी लोग हिंदू महासभा के नेता से स्वतः आकर मिले और क्षेत्र में आकर मिलने को बोला और उनकी समस्या सुनी और सभी का यही मत था की हिंदू महासभा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की बात करके उसे भारत में मिलाने की बात करती है तो उन्हें हिंदू महासभा को वोट देने में भी आपत्ति नही है । वहां के अधिकतर लोगों ने कहा की कश्मीर में कांग्रेस, नेशनल कांफ्रेस, पीडीपी जैसी पार्टियाँ ही अलगाववादियों से सांठ-गाँठ करके अपने प्रत्यासी जितवाकर लोकसभा और विधानसभा में भेजते हैं ! वहां के लोगों ने यह भी बताया की हमारे बच्चों के हाथों में पत्थर यही अलगाववादी देते हैं और इन अलगाववादियों के बच्चे डाक्टर या इंजिनियर बनते हैं, एक स्थानीय लड़के ने कहा की ये अलगाववादी क्यों नही अपने बच्चों को पत्थर मारने के लिए लगाते हैं !

श्रीनगर के स्थानीय निवासीयों ने यह भी कहा की भाजपा का श्रीनगर से अपना प्रत्याशी खड़ा न करना बहुत दुखद है और पीडीपी के सामने भाजपा ने घुटने टेक दिए और इससे अलगाववाद को और बल मिलेगा ! जब हिंदु महासभा के नेता श्री चेतन शर्मा ने कहा की हिंदु महासभा धारा 370 और धारा 35A के विरुद्ध है और जब ये नही होंगे तो उस दिन से जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद का दौर समाप्त होगा और उद्योग लगना प्रारम्भ हो जायेंगे तो वहां के लोगों ने कहा की इसी के कारण जम्मू-कश्मीर का निवासी अलग-थलग पड़ा हुआ है !

कश्मीर के लोगों को जब चेतन शर्मा जी ने सावरकर के सिद्धांत और हिंदू महासभा की विचारधारा से अवगत कराया तो लोगों ने कहा की हमें हिंदू महासभा से आपत्ति नही है और श्रीनगर में हिंदू महासभा का कार्यालय भी जल्द खोलने का प्रस्ताव दे दिया और वहां हिंदुराष्ट्र ध्वज को फहराने से भी उन्हें आपत्ति नही है । चेतन शर्मा ने बताया की हिंदू महासभा का हिंदु-राष्ट्र सिद्धांत सांस्कृतिक, पारंपरिक एवं वैचारिक है और तो और हिंदू महासभा को नास्तिक से भी आपत्ति नही है यदि वो कहे की भारत मेरी पुण्य एवं पितृ भूमि है !

आप सभी को नववर्ष एवं नवरात्र मंगलमय हो। धर्मो रक्षति रक्षितः।

भारतीय एवं हिंदू नव वर्ष की शुभकामनाएं यह नव वर्ष आपके जीवन में खुशियां सुख समृद्धि एवं आनंद लेकर आए और आपके जीवन को प्रसन्नता से भर दे आपकी सारी मनोकामनाएं पूरी हो…..

Yashark Pandey : चैत्र प्रतिपदा आज से है या कल से ये मुझे नहीं पता। कुछ विद्वानों को पढ़ा किंतु समझ में नहीं आया। प्रायः अखबार में खबर आती है कि काशी के फलां फलां विद्वानों की बैठक होने वाली है जिसमें पूरे देश में एक पंचांग की व्यवस्था करने पर विचार होगा। ऐसी बैठकों में विमर्श से क्या निष्कर्ष निकलता है पता नहीं। ज्योतिष अपना विषय नहीं है अतः कुछ और कहना उचित नहीं।

अत्रि विक्रमार्क अन्तर्वेदी जी की आईडी बन्द है अन्यथा डांट डपट के कुछ ज्ञान दे ही देते। मांस हम खाते नहीं तो नवरात्र में छोड़ने का प्रश्न भी नहीं उठता। जीव जन्तु herbivore, carnivore और omnivore होते हैं। मैं ‘herbi-fruity-vore’ हूँ। अर्थात् अनाज खाते हुए फलाहार भी भखने वाला।

अपना एक मित्र है। जब बनारस में रहता था तो उसके यहाँ नवरात्र पे ढेर सारा स्वादिष्ट फलाहार बनता था। हम अपने घर में अनाजी खा के उसके यहाँ फलाहार खाने जाते थे। भूखा रहना अपने बस की बात नहीं। वर्ष में केवल दो दिन व्रत रहता हूँ: महाशिवरात्रि और श्रीकृष्ण जन्माष्टमी।

बन्धुओं प्रतिदिन किसी एक ग्रन्थ का पाठ अवश्य करें। संस्कृत ही संस्कृति का मूल है अतः अर्थ समझते हुए स्वाध्याय करें। मेरे परिवार में नित्य चार ग्रन्थों का पाठ होता है। मैं रुद्री करता हूँ, पिताजी गीता और मानस, माँ दुर्गा सप्तशती का पाठ करती हैं। यह बताने का आशय यह है कि आपके कुटुंब में जितने सदस्य हों उतने ग्रन्थ आपस में बाँट लीजिए। शास्त्रों से विमुख होना संस्कृति से विमुख होना है। संस्कृति से विमुख होना अर्थात् राष्ट्र से विमुख होना है।

बिना पूजा पाठ किये झुट्ठै व्रत रखना व्यर्थ है। कहा गया है कि दुर्गा सप्तशती का पाठ करते हुए उच्चारण की अशुद्धि नहीं होनी चाहिये। जिन्हें संस्कृत नहीं आती वे हिंदी संस्करण का मानसिक पाठ करें।

एक बार करपात्री जी महराज हाथ में कोई ग्रन्थ लेकर पाठ कर रहे थे। किसी ने देखा तो टोक दिया कि महराज पोथी को हमेशा लकड़ी के पीढ़े पर रख कर पाठ करना चाहिये अन्यथा आधा फल ही प्राप्त होता है।

करपात्री जी बोले, ‘कलियुग में पूरा फल मिलता कहाँ है, आधा ही मिल जाये तो बहुत है।’ अतः यदि आप संस्कृत से परिचित नहीं हैं तब भी हिंदी में दुर्गा सप्तशती गीता प्रेस से ले आइये। देवी का स्मरण करते हुए पाठ करें। एक बार पूरी कथा पढ़ लेंगे फिर संस्कृत में पढ़ने पर स्वतः सरल प्रतीत होगा।

आप सभी को नववर्ष एवं नवरात्र मंगलमय हो। धर्मो रक्षति रक्षितः। जय जय श्री राम _/\_

रिपोर्ट पढ़िये: भारतीय मीडिया का ज्ञान कितना घटिया है, देश की असलियत से कितने कटे हुए हैं….

ब्लॉग : पुष्पेंद्र राणा ( यूनाइटेड हिन्दी डॉट कॉम ) :-  अवैध बूचड़खानों की बंदी का विरोध कर विपक्ष, मीडिया, महानगरों में बैठे तथाकथित बुद्धिजीवियों ने ना केवल अपनी बेवकूफी का प्रदर्शन किया है बल्कि उनका ज्ञान कितना सिमित है और महानगरो से बाहर के भारत की असलियत से कितने कटे हुए हैं इस सच्चाई के दर्शन भी करा दिए हैं।

लेकिन दुर्भाग्य यह है कि अधिकतर समर्थक भी इस मुद्दे से ठीक से परिचित नही है ?
पहली बात तो मुद्दा सिर्फ गौ हत्या का नही था ! गौ हत्या पर उत्तर प्रदेश में पहले से ही कानूनी प्रतिबन्ध है। हालांकि सपा और बसपा की सरकारों में इस कानून की धज्जियां उड़ाई गई और बड़े पैमाने पर सरकारी संरक्षण में गौहत्या की जाती रही।

लेकिन गौ हत्या से भी बड़ा मुद्दा (विशेषकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिये) भैंसों के अवैध कटान का रहा है। उदाहरण के लिये कुछ साल पहले तक मेरठ में शहर के बीचों बीच सरकारी कमेला होता था जिसे हर साल नगर निगम मामूली रकम के एवज में याकूब कुरैशी और शाहिद अख़लाक़ जैसे कसाई नेताओ को ठेके पर देता था। मेरठ शहर की रोजाना की मांस की खपत 250 भैंस की है और इसीलिए इस कमेले में कानूनी रूप से रोजाना 250-300 भैंस काटे जाने की अनुमति थी लेकिन स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इसमें रोजाना 5-7 हजार तक भैंस काटी जाती थी। इसके अलावा कई हजार मेरठ शहर के एक हिस्से के गली मुहल्लों में बने छोटे कमेलो में कटती थी। मेरठ शहर के मुस्लिम बहुल इलाकों का यह हाल है कि वहां पानी में भी खून आता है। दुर्गन्ध और बीमारियों की वजह से कई इलाको से लोग पलायन कर गए। कोर्ट ने कई सालों पहले ही इस कमेले को बंद करने और शिफ्ट करने का आदेश दिया हुआ था लेकिन उसे हटाने की इक्षाशक्ति किसी सरकार में नही थी।

सबसे बड़ी बात ये है कि ये सारा मांस गल्फ में एक्सपोर्ट होता था। लोकल सप्लाई के लिये इतने कटान की आवश्यकता नही थी ! याकूब कुरैशी और शाहिद अख़लाक़ जैसे नेता रातो-रात करोड़पति से खरबपति हो गए। बसपा की सरकार में तो इनका खुद का ही राज था। सुविधा अनुसार पार्टी भी बदल लेते थे। पैसो और सत्ता के दम पर इन्होंने मेरठ में आतंक कायम किया। सपा में आजम खान की वजह से इनकी दाल नही गली क्योंकि उसकी कसाईयो से नही बनती थी। आजम खान ने मेरठ की पीड़ित मुस्लिम जनता की गुहार पर कमेला शहर से बाहर शिफ्ट करवा दिया। हालांकि याकूब कुरैशी जैसे इतने पैसे वाले हो गए कि उन्होंने खुद अपने आधुनिक संयंत्र स्थापित कर लिए लेकिन इनमे अवैध कटान चालू रहा।

अगले पृष्ठ पर पढ़िये : बिसाहड़ा जैसे कितने काण्ड हुए

सामूहिक बलात्कार पीड़िता को ज़बरदस्ती हैवानो ने पिला दिया तेज़ाब, योगी ने खुद की मुलाक़ात और…

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. बताया जा रहा है कि बीते आठ साल से कानूनी जंग लड़ रही सामूहिक बलात्कार की पीड़िता 35 साल की एक महिला एक बार फिर से गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती है. वजह यह है कि गुरुवार को लखनऊ जा रही एक ट्रेन में दो पुरुषों ने उसे पकड़कर जबरदस्ती तेजाब पिलाया.

चलती ट्रेन में महिला को तेजाब पिलाया:

बताया जा रहा है कि अभी महिला की हालत गंभीर है, जो लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेड अस्पताल में भर्ती है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को महिला से मुलाकात करने अस्पताल पहुंचे. बताया जा रहा है कि वह आईसीयू में भर्ती है. मुख्यमंत्री ने महिला की हालत की जानकारी ली और एक लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की. साथ ही सीएम योगी ने पुलिस को जल्द से जल्द महिला के साथ दुर्व्यवहार करन वाले आक्रमणकारियों को गिरफ्तार करने का सख्त आदेश दिया.

इससे पहले इस महिला का हो चुका है गैंगरेप:

आपको बता दें कि पीड़ित महिला के साथ वर्ष 2008 में रायबरेली में सामूहिक बलात्कार किया गया था और उसके बाद बलात्कारियों द्वारा उसके पेट पर तेज़ाब फेंक दिया गया था. उस मामले में उस वक़्त तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया था. मगर अब इस घटना के बाद और जल्द ही मामले की सुनवाई शुरू होने जा रही है.

चेतावनी- कोई गारंटी नही है अगर आप हँसते हँसते मर गए -sorry

संगीत एक ऐसा माध्यम है जिस की धुन पर हर कोई थिरकने को मजबूर हो जाता है। और फिर नाचने का भी अपना एक अलग मजा होता है। माइकल जैक्सन, प्रभुदेवा ऐसे डांसर हैं जिन्हें पूरी दुनिया जानती है. और कई लोग हैं जिनका नाम अगर हम गिनाना शुरू करें तो शायद शाम हो जाए। लेकिन अपना भारत ऐसा हैं अनेको अनेक प्रकार के लोग रहते हैं और उनकी कला भी अलग होती हैं खासकर डांस की कला.

यदि डांस की कला गांव में ढूंढी जाएँ तो भी आपको बहुत कुछ मिल सकता है  यहां के ऐसे भी डांस लोग करते है की देखने वाला हंसते हंसते लोटपोट हो जाए. हालाँकि डांस तो इसिलिय्व होता भी है यानी की मनोरंजन के लिए.  इन दिनों सोशल मीडिया पर एक ऐसा ही  वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे देखकर आप पेट पकड़कर हंसने को मजबूर हो जायेंगे। सभी लोगों को किसी भी ख़ुशी के मौके पर नाचना-गाना पसंद है।

देखिये विडियो अगले पेज पर-

कॉल सेण्टर में लड़की ने कस्टमर के साथ की शर्मनाक हरकत, देखकर आप हो जायेंगे हैरान

कस्टमर और कंपनी के बीच में कॉल सेंटर में काम करने वाले टेली कालर एक कड़ी की तरह होते हैं और कस्टमर को अपनी कम्पनी में बेहतर सर्विस और सहायता के लिए नियुक्त किये जाते हैं. आज हम आपको दिखने जा रहे हैं की किस तरह एक एक लड़की जो अपने कस्टमर की कॉल पर ऐसे व्यवहार कर रही है जो उसे नहीं करना चाहिए. इस लड़की ने ऐसा व्यवहार किया कि निश्चित ही उस ग्राहक को कोई सहायता नहीं मिल सकी होगी.

 

देखें विडियो अगले पेज पर –

दुबई की गलियों का घिनौना सच जानकर आप हैरान हो जायेंगे

डांस दुनिया में हर एक जगह पसंद की जाने वाली कला हैं. दुनिया के तमाम बड़े छोटे शहर में इसके कई प्रशंसक मिल जातें हैं. दुबई एक आलीशान मुल्‍क है यहां की शानों-सौकत, रहन-सहन और शेखों का अंदाज आपको काफी पसंद आएगा। लेकिन आप जानते हैं कि इस शानों-सौकत के पीछे एक सच ये भी है कि यहां जिस्म सरेआम बिकते हैं। यहां अमीर अपने शौक पूरे करने के लिए किर्गिस्तान से लड़कियां बुलाई जाती हैं। ये सच सुनकर आपके रौंगटे खड़े हो जाएंगे। महिलाओं को पर्दा करने वाले इस मुल्क में वो सब कुछ होता है, जिसके बारे में जानकर और पढ़कर आपके होश उड़ जाएंगे। आज हम आपको एक ऐसा ही वीडियो दिखायेंगे कि किर्गिस्तान की एक लड़की को एक होटल बुलाया जाता है।

किर्गिस्तान से इस लड़की को होटल में बुलाकर डांस कराया जाता है और उसके जिस्‍म की नुमाइश की जाती है। लड़की के जिस्म से भूखे-भेड़ियों की नजर एक पल के लिए भी नहीं हटती है। यही नहीं बताया जाता है कि लड़की के डांस पर अगर शेख फिदा हुए तो लड़की की बोली लगाई जाती है। ये बोली लाखों रुपये तक की लगती है।

इस मुल्‍क के बड़े-बड़े होटलों में अक्सर ऐसी पार्टी का आयोजन करवाया जाता है। इस पार्टी के दौरान लड़की को अपने ग्राहकों को खुश करने के लिए डांस करना पड़ता है। कपड़े जितने ज्यादा कम, दुबई लड़की की बोली उतनी ही ज्यादा। बताया जाता है कि इस शर्मनाक करतूत के पीछे बड़े लोग शामिल हैं। लड़कियों को काम दिलाने का लालच देकर किर्गिस्तान से इस मुल्क में बुलाया जाता है। इस शर्मनाक करतुत में लड़कियां धोखे का शिकार हो जाती है और लड़कियों की जिंदगी ऐसे ही बर्बाद हो जाती है। तो ये है दुबई की कहानी, जिसके बारे में जानकर दांतों तले उंगली दबाने पर मजबूर हो जाएंगे।

देखें विडियो अगले पेज पर-

आने वाली है भारत सबसे तेज ट्रेन, इसकी स्पीड देखकर आप हैरान हो जायेंगे…

आज भारत दुनिया में तेजी से बढ़ने वाला देश है. और यहाँ नित प्रतिदिन नए नए प्रयोग हो रहे हैं. अभी हाल ही में आ रही ख़बरों के मुताबिक भारत के सामने हाइपरलूप ट्रांसपोर्टेशन टेक्नोलॉजीज ने एक प्रस्ताव रखा है. अगर इस प्रस्ताव पर सहमती बन गई तो भारत भी उन तमाम देशों की फेहरिस्त में शामिल हो जायेगा जिन देशो में जहाँ लोग लूप ट्रेन का उपयोग कर अपने समय की बचत करते हैं.

ये बात आपको वाकई में चौंका देने वाली हैं अगर ये सच हो जाए तो भारत के वो दिन चले जायेंगे जब वो अमेरिका चीन जापान और रूस जैसे देशो से ट्रांसपोर्ट के मामले में बहुत पीछे हुआ करता था अब भारत के सामने ये प्रोजेक्ट आ गया है.  इस प्रोजेक्ट पर नितिन गडकरी और PMO खुद विचार कर रहे है अगर ये सपना सच होगा तो इससे देश की रफ्तार बेलगाम दौड़ सकती है इस प्रोजेक्ट को मुंबई से पुणे के बीचमे लाने पर विचार किया जा रहा है क्योंकि मुंबई से पुणे के बीच रोजमर्रा के काम करने वाले लोग भी बहुत है जिन्हें कभी इस शहर तो कभी उस शहर लगातार आते जाते रहना पड़ता है. और सइस सुबिधा के शुरू हो जाने पर लोगों को काफी आसानी हो जाएगी.

तरफ बुलेट ट्रेन की औसतन रफ्तार 350 किलोमीटर प्रतिघंटा हो सकती है वही हाइपरलूप ट्रेन 800-1000 किलोमीटर प्रतिघंटा के हिसाब से रफ्तार के साथ चल सकती है

इस ट्रेन के बारे और जाने अगले पेज पर-